एथर इंडस्ट्रीज आईपीओ (Aether Industries IPO Review) क्या मुझे आवेदन करना चाहिए या नहीं?

एथर इंडस्ट्रीज आईपीओ (Aether Industries IPO Review) क्या मुझे आवेदन करना चाहिए या नहीं?

यहां एथर इंडस्ट्रीज 24 मई को अपने आईपीओ के उद्घाटन और 26 मई 2022 को बंद होने के दौरान  808 करोड़ जुटाने की सोच रही है।

कंपनी ने मूल्य बैंड  610 से  ​​642 प्रति इक्विटी शेयर तय किया है। इस लेख में, हम एथर इंडस्ट्रीज के आईपीओ की समीक्षा पर एक नज़र डालेंगे और इसकी ताकत और कमजोरी का विश्लेषण करेंगे। पता लगाने के लिए पढ़ते रहे!

एथर इंडस्ट्रीज लिमिटेड के बारे में

एथर इंडस्ट्रीज लिमिटेड भारत में सूरत स्थित एक रासायनिक निर्माता है। यह उन्नत मध्यवर्ती और विशेष रसायन बनाती है जिसमें जटिल और विभेदित रसायन विज्ञान और प्रौद्योगिकी मुख्य दक्षताएं शामिल हैं।

इसके तीन बिजनेस मॉडल हैं:

मध्यवर्ती और विशेष रसायनों का बड़े पैमाने पर निर्माण, CRAMS (अनुबंध अनुसंधान और विनिर्माण सेवाएं) और अनुबंध विनिर्माण। एथर इंडस्ट्रीज की गुजरात के सूरत में सचिन में दो विनिर्माण स्थल हैं। पहली एक 3500 वर्ग मीटर की सुविधा है। इस सुविधा में आर एंड डी और हाइड्रोजनीकरण सुविधाएं और पायलट प्लांट शामिल हैं। दूसरी सुविधा 30 सितंबर 2021 तक 6,096 मीट्रिक टन प्रति वर्ष की स्थापित क्षमता के साथ 10,000 वर्ग मीटर की सुविधा है।

इसके उत्पाद पोर्टफोलियो में 25 से अधिक उत्पाद हैं। इसके ग्राहकों में 18 देशों की 34 वैश्विक कंपनियां और 154 घरेलू कंपनियां शामिल हैं। यह मात्रा के हिसाब से दुनिया में 4MEP, T2E, NODG और HEEP उत्पादों का सबसे बड़ा निर्माता है।

प्रतियोगियों (Competitors)

एथर इंडस्ट्रीज के कुछ प्रमुख प्रतियोगी विनती ऑर्गेनिक्स, क्लीन साइंस एंड टेक्नोलॉजी, पीआई इंडस्ट्रीज, नवीन फ्लोरीन और फाइन ऑर्गेनिक्स हैं।

एथर इंडस्ट्रीज आईपीओ पर महत्वपूर्ण जानकारी एथर इंडस्ट्रीज ने प्री-आईपीओ राउंड में व्हाइट ओक कैपिटल सहित चार प्रमुख निवेशकों से 130 करोड़ रुपये जुटाए। इसलिए, यह पहले तय किए गए 757 करोड़ रुपये के बजाय नए इश्यू से 627 करोड़ जुटाएगा।

पूर्णिमा अश्विन देसाई, इसके एक प्रवर्तक 28.2 लाख इक्विटी शेयरों को कुल मिलाकर  181.04 करोड़ में बेचेंगे। निवेशक न्यूनतम 23 शेयरों के लिए और उसके बाद उसके गुणकों में बोली लगा सकते हैं।

लिंक इनटाइम इंडिया प्राइवेट लिमिटेड इश्यू का रजिस्ट्रार है। एचडीएफसी बैंक लिमिटेड और कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी लिमिटेड इश्यू के प्रमुख प्रबंधक हैं।

Aether Industries IPO Dates

Aether Industries IPO – Subscription Details

आईपीओ का उद्देश्य

कंपनी नए इश्यू से प्राप्त शुद्ध आय का उपयोग निम्न के लिए करेगी:

कंपनी द्वारा लिए गए कुछ बकाया उधारों के सभी या एक हिस्से का पूर्व भुगतान या पुनर्भुगतान। विनिर्माण सुविधा (प्रस्तावित ग्रीनफील्ड परियोजना) के लिए पूंजीगत व्यय आवश्यकताओं का वित्तपोषण। कंपनी की कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं का वित्तपोषण। सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्य। वित्तीय विशिष्टताएं एथर इंडस्ट्रीज दुनिया भर के देशों को अपने अधिकांश उत्पादों का निर्यात करती है। निर्यात से इसका राजस्व वित्तीय वर्ष 2019 में 1,000.90 मिलियन से 58.56% की सीएजीआर से बढ़कर वित्तीय वर्ष 2021 में 2,516.62 मिलियन हो गया है। (CAGR का अर्थ चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर है)। निर्यात से इसका राजस्व 31 दिसंबर 2021 को समाप्त नौ महीनों में 2,804.23 मिलियन था।

एथर इंडस्ट्रीज की ताकत

कंपनी के कुछ मजबूत सूट हैं:

रसायन विज्ञान और प्रौद्योगिकी में उनकी आंतरिक अनुसंधान एवं विकास क्षमताएं। बाजार में अग्रणी उत्पादों का एक विविध पोर्टफोलियो। उन्होंने अपने व्यापक ग्राहक आधार के साथ लंबे समय तक संबंध बनाए रखा है। इसके बिजनेस मॉडल सही तालमेल के साथ काम करते हैं।

उनका व्यवसाय गुणवत्ता, पर्यावरण, स्वास्थ्य और सुरक्षा के साथ स्थिरता पर जोर देता है। मजबूत और लगातार वित्तीय प्रदर्शन। व्यापक डोमेन ज्ञान के साथ अनुभवी प्रमोटर और वरिष्ठ प्रबंधन।

एथर इंडस्ट्रीज की कमजोरियां

कंपनी की कुछ कमजोरियां हैं:

उनका व्यवसाय उनकी विनिर्माण सुविधाओं पर अत्यधिक निर्भर है। मंदी, शटडाउन, हड़ताल, काम में रुकावट और वेतन की बढ़ी हुई मांग उनके कार्यों में बाधा डालती है। इसलिए, वे उनके व्यवसाय, वित्तीय स्थिति और संचालन के परिणामों को प्रभावित करते हैं।

कंपनी के संचालन में विभिन्न खतरनाक पदार्थों का निर्माण, उपयोग और भंडारण शामिल है। इसलिए, यह कुछ जोखिमों के संपर्क में है।

इसका अपने प्रमुख ग्राहकों के साथ दीर्घकालिक अनुबंध नहीं है। इसलिए, यदि एक या अधिक ग्राहक अपनी आवश्यकताओं को एथर इंडस्ट्रीज से नहीं लेना चुनते हैं, तो उनके व्यवसाय पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।

इसके अलावा, मौजूदा दीर्घकालिक अनुबंधों को समाप्त करने का एक समान प्रभाव हो सकता है। हो सकता है कि उनका बीमा कवरेज उन्हें सभी नुकसानों से पर्याप्त रूप से सुरक्षा न दे।

यह बीमा पॉलिसी के अनुसार सभी नुकसानों के लिए उपलब्ध नहीं हो सकता है। इसलिए, यह उनके व्यवसाय, वित्तीय स्थिति और संचालन के परिणामों को प्रभावित कर सकता है।

सुरक्षा, स्वास्थ्य, पर्यावरण और श्रम कानूनों और अन्य लागू नियमों का पालन न करने और उनमें बदलाव से उनके व्यवसाय पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। उनके कर्मचारी स्टॉक विकल्प योजनाओं के तहत स्टॉक विकल्प के अनुदान के परिणामस्वरूप उनके लाभ हानि के विवरण पर शुल्क लग सकता है।

उनकी आकस्मिक देनदारियां उनके व्यवसाय, संचालन के परिणामों और वित्तीय स्थिति को भौतिक और प्रतिकूल रूप से प्रभावित कर सकती हैं।

कंपनी एचडीएफसी बैंक लिमिटेड से लिए गए ऋणों के पुनर्भुगतान या पूर्व भुगतान के लिए शुद्ध आय के एक हिस्से का उपयोग कर सकती है, जो बुक रनिंग लीड मैनेजर्स में से एक है।

उनकी ऋण रेटिंग में कोई भी गिरावट उनके व्यवसाय पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकती है। अपनी बिक्री के एक महत्वपूर्ण हिस्से के लिए कुछ उद्योगों पर कंपनी की निर्भरता का उसके व्यवसाय पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।

निर्यात से बिक्री और उनके व्यय का एक हिस्सा विदेशी मुद्राओं में मूल्यवर्गित किया जाता है। इसलिए, विनिमय दर में उतार-चढ़ाव परिचालन के परिणामों पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है। वे सफलता के लिए अनुसंधान एवं विकास गतिविधियों पर अत्यधिक निर्भर हैं। इसलिए, यदि वे नए उत्पादों का विकास नहीं करते हैं या अपने उत्पाद पोर्टफोलियो का समय पर और लागत-कुशल तरीके से विस्तार नहीं करते हैं, तो उनके व्यवसाय को नुकसान हो सकता है।

 

इस समाचार लेख की सामग्री निवेश सलाह नहीं है। इक्विटी में निवेश करने से वित्तीय नुकसान का खतरा होता है। इसलिए निवेशकों को शेयरों में निवेश या ट्रेडिंग करते समय उचित सावधानी बरतनी चाहिए। AG Investment या लेखक इस लेख पर आधारित निर्णय के परिणामस्वरूप हुए किसी भी नुकसान के लिए उत्तरदायी नहीं हैं। निवेश करने से पहले कृपया अपने निवेश सलाहकार से सलाह लें।

 

प्राफिट का मंत्र- अच्छे स्टाक्स में निवेश करने के बाद भी नहीं हो रहा ग्रोथ?

अधिकांश लोग अच्छे स्टाक्स में निवेश करके कई साल तक होल्ड करने की सलाह देते हैं। लेकिन इन अच्छे स्टाक्स का चयन करना आसान नहीं है। इसके लिए कुछ बुनियादी सिद्धांत हैं और इसमें ग्रोथ प्रमुख है। हालांकि अच्छे निवेश के लिए काफी जांच-परख आवश्यक है।

LIC IPO – UPDATE YOUR PAN AND GET 10% RESERVE QUOTA IN LIC IPO Latest

LIC IPO – UPDATE YOUR PAN AND GET 10% RESERVE QUOTA IN LIC IPO Latest

How to Link Your LIC Policy with PAN to apply for LIC IPO Quota?

Check whether your PAN is linked to your LIC Policy or not. This is important as you can apply to the upcoming LIC IPO only if it is linked successfully.

LIC IPO promises to be the biggest Indian IPO till date with Rs 1 lakh crores estimated. It will surpass the 2nd largest Paytm IPO which was of around Rs 18k crores. The LIC IPO opening date is not announced yet, but it is believed to be coming in a few months time.

Link PAN to LIC Policy to Apply for LIC IPOLife Insurance Corporation of India recently declared that if LIC Policy holders (under LIC Policy Reserved Quota) want to apply for the LIC IPO  then they will have to compulsorily link their PAN with their existing LIC policies. The LIC Policy Quota reserves upto 10% shares to opt for out of the complete LIC IPO issue size.

The reason for this LIC PAN Linking is Validation (Demat Account), e-KYC, and all other service aspects related to LIC. You can get all the details of the LIC IPO here.

If you have LIC Policies and want a share in the LIC IPO, but don’t have a demat account then you won’t be able to apply. Thus, Apply a DEMAT ACCOUNT Now -ALICE BLUE or DEMAT ACCOUNT -ZERODHA  which gets created in minutes these days. You can also apply for the LIC IPO without having an LIC Policy, but your chances to get allotment will be lesser comparatively.

OPEN DEMAT ACCOUNT  – ALICE BLUE

OPEN DEMAT ACCOUNT – ZERODHA

LINK YOUR PAN  ONLINE IN POLICY- LIC PAN LINK

ONLINE CHECKING POLICY PAN STATUS – LIC PAN STATUS

Steps to Link Your LIC Policies with PAN for LIC IPO Application

1. Visit this LIC PAN Link to check if your PAN is linked to your policy or not.

2. Here, you need to provide your policy number, date of birth, and PAN number.

3. After clicking “Submit” if you get a ‘PAN not registered’ message then you need to move ahead for linking PAN with LIC Policy else you can opt-out.

4. Now, click on the above button (click here) to proceed further.

5. A new form will open asking for your DOB, gender, email, PAN, full name, mobile number (which is registered with your LIC policy), and policy number.

6. After filling it you need to tick a self-declaration check box, enter CAPTCHA, and click on “Get OTP”.

7. Enter the OTP received on your registered mobile number. It will also show the details provided by you on the top so that you can recheck before proceeding ahead.

8. That’s it! You will receive an acknowledgement message such as the one shown below.

This was all about PAN linking to LIC Policy. You can also checkout the Latest IPO News for updates on the upcoming IPOs in December 2021.

 

हेरंबा इंडस्ट्रीज लिमिटेड आईपीओ – 23-25 Feb 2021

हेरंबा इंडस्ट्रीज लिमिटेड आईपीओ – 23-25 Feb 2021

Heranba Industries Limited- 23 Feb to 25 Feb 2021

1996 में शामिल, हेरंबा इंडस्ट्रीज लिमिटेड गुजरात स्थित फसल संरक्षण रासायनिक निर्माता है। यह सिंथेटिक पायरेथ्रोइड जैसे साइपरमेथ्रिन, डेल्टामेथ्रिन, लैम्ब्डा-साइहलोथ्रिन आदि के प्रमुख घरेलू उत्पादकों में से एक है। कंपनी कीटनाशकों, कवकनाशकों, शाकनाशी, और अन्य कीट नियंत्रण उत्पादों सहित विभिन्न प्रकार के कीटनाशकों का निर्माण करती है । इसका घरेलू के साथ-साथ विदेशी बाजार में भी मजबूत नेटवर्क है। भारत में, इसके 16 राज्यों और 1 केंद्र शासित प्रदेश में 8600 डीलर हैं, जबकि विदेशी बाजार में, यह अंतरराष्ट्रीय वितरण भागीदारों के माध्यम से 60 से अधिक देशों को अपने उत्पादों का निर्यात करता है।

कंपनी के पास वापी, गुजरात में 3 अच्छी तरह से सुसज्जित विनिर्माण इकाइयां हैं, जो 14,024 एमटीपीए की कुल विनिर्माण क्षमता हैं। इसमें यूनिट 1 और 2 में एक इन-हाउस आरएंडडी टीम है जो वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग (डीएसआईआर) द्वारा मान्यता प्राप्त है और यूनिट III में इसकी नई अनुसंधान एवं विकास सुविधा, सारिगम दिसंबर 2020 से चालू हो जाएगा ।

5 मिनट में भारत का नंबर 1 डीमैट खाता खोलने के लिए यहां क्लिक करें

प्रतिस्पर्धी ताकत – Competitive strengths

  • मध्यवर्ती, फॉर्मूलेशन और तकनीकी सहित उत्पाद पोर्टफोलियो की सीमा।
  • घरेलू के साथ-साथ वैश्विक पहुंच।
  • मजबूत वितरण नेटवर्क।
  • बड़े ग्राहक आधार।
  • अनुभवी प्रमोटर और प्रबंधन टीम।

Company Promoters:

Sadashiv K. Shetty and Raghuram K. Shetty are the company promoters.

Company Financials:

ParticularsFor the year/period ended (₹ in million)
30-Sep-2031-Mar-2031-Mar-1931-Mar-18
Total Assets7,881.206,247.635,604.434,504.65
Total Revenue6,192.119,679.0610,118.387,504.10
Profit After Tax663.11977.50754.02468.76

Heranba Industries IPO Details

IPO Opening DateFeb 23, 2021
IPO Closing DateFeb 25, 2021
Issue TypeBook Built Issue IPO
Face Value₹10 per equity share
IPO Price[.] to [.] per equity share
Market Lot
Min Order Quantity
Listing AtBSE, NSE
Issue Size
Fresh Issue[.] Eq Shares of ₹10
(aggregating up to ₹60.00 Cr)
Offer for Sale9,015,000 Eq Shares of ₹10
(aggregating up to ₹[.] Cr)

Heranba Industries IPO Tentative Timetable

The Heranba Industries IPO open date is Feb 23, 2021, and the close date is Feb 25, 2021. The issue may list on Mar 5, 2021.

IPO Open DateFeb 23, 2021
IPO Close DateFeb 25, 2021
Basis of Allotment DateMar 2, 2021
Initiation of RefundsMar 3, 2021
Credit of Shares to Demat AccountMar 4, 2021
IPO Listing DateMar 5, 2021

Also Read:
1 -LIC जीवन शांति पॉलिसी में एकमुश्त निवेश कर पा सकते हैं हर महीने 4 लाख रुपये पेंशन, जीवनभर मिलता रहेगा फायदा
2 -LIC Jeevan Labh पॉलिसी में रोजाना 280 रुपये का निवेश कर, पाएं 20 लाख, जानें क्या है ये पूरा प्लान

आप अपना सुझाव हमें निचे कमेंट बॉक्स में दे सकते है। अगर आपको किसी और सब्जेक्ट के बारे में कोई सुझाव चाहिए तो जरूर लिखे.

धन्यवाद !

अशोक कुमार
AG Investment

रेलटेल कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड आईपीओ (रेलटेल आईपीओ) 16 – 18 फरवरी, 2021

रेलटेल आईपीओ ओपन डेट 16 फरवरी, 2021 है, और क्लोज डेट 18 फरवरी, 2021 है। यह मुद्दा 26 फरवरी, 2021 को सूचीबद्ध हो सकता है।

 

RailTel Corporation of India Limited IPO (RailTel IPO)2000 में शामिल, रेलटेल कॉर्पोरेशन एक सार्वजनिक क्षेत्र की व्यावसायिक इकाई है, जिसका पूर्ण स्वामित्व भारत सरकार (भारत सरकार) के पास है और रेल मंत्रालय द्वारा प्रशासित किया गया है। यह एक सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) बुनियादी ढांचा प्रदाता कंपनी है। कंपनी की स्थापना दूरसंचार बुनियादी ढांचे के आधुनिकीकरण के प्रमुख उद्देश्य से की गई थी और आज यह सबसे बड़े दूरसंचार बुनियादी ढांचा प्रदाताओं में से एक है ।

रेलटेल उच्च घने तरंगदैर्ध्य डिवीजन मल्टीप्लेक्सिंग (DWDM) और मल्टी-प्रोटोकॉल लेबल स्विचिंग (एमपीएलएस) नेटवर्क जैसी नवीनतम तकनीक का उपयोग करता है। 30 जून 2020 तक, इसने 55,000 किमी और 5677 रेलवे स्टेशनों पर ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क को कवर किया है। कंपनी के हरियाणा, गुरुग्राम, सिकंदराबाद और तेलंगाना में डेटा सेंटर हैं।

5 मिनट में भारत का नंबर 1 डीमैट खाता खोलने के लिए यहां क्लिक करें

रेलटेल उत्पाद और सेवाएं:

  • टेलीकॉम नेटवर्क सेवाएं
  • टेलीकॉम इंफ्रास्ट्रक्चर सर्विसेज
  • डेटा सेंटर और होस्टिंग सेवाएं
  • सिस्टम इंटीग्रेशन सर्विस

कंपनी प्रमोटर:
रेल मंत्रालय के माध्यम से कार्य करने वाले भारत के राष्ट्रपति कंपनी के प्रमोटर हैं।

Company Financials:

ParticularsFor the year/period ended (Rs in million)
 30-Sep-2031-Mar-2031-Mar-1931-Mar-18
Total Assets24,821.5023,98122,276.7523,228.79
Total Revenue5,537.8411,660.0510,382.6610,212.18
Profit After Tax455.841,410.661,353.561,340.06

RailTel IPO Details

IPO Opening DateFeb 16, 2021
IPO Closing DateFeb 18, 2021
Issue TypeBook Built Issue IPO
Face Value₹10 per equity share
IPO Price₹93 to ₹94 per equity share
Market Lot155 Shares
Min Order Quantity155 Shares
Listing AtBSE, NSE
Issue Size87,153,369 Eq Shares of ₹10
(aggregating up to ₹819.24 Cr)
Offer for Sale87,153,369 Eq Shares of ₹10
(aggregating up to ₹819.24 Cr)

रेलटेल आईपीओ अनंतिम समय सारिणी

रेलटेल आईपीओ ओपन डेट 16 फरवरी, 2021 है, और क्लोज डेट 18 फरवरी, 2021 है। यह मुद्दा 26 फरवरी, 2021 को सूचीबद्ध हो सकता है।

IPO Open DateFeb 16, 2021
IPO Close DateFeb 18, 2021
Basis of Allotment DateFeb 23, 2021
Initiation of RefundsFeb 24, 2021
Credit of Shares to Demat AccountFeb 24, 2021
IPO Listing DateFeb 26, 2021

रेलटेल आईपीओ लॉट आकार

रेलटेल आईपीओ मार्केट लॉट साइज 155 शेयर है। एक खुदरा-व्यक्तिगत निवेशक 13 लॉट (2015 शेयर या ₹ 189,410) के लिए आवेदन कर सकता है।

ApplicationLotsSharesAmount (Cut-off)
Minimum1155₹14,570
Maximum132015₹189,410

Also Read:
1 -LIC जीवन शांति पॉलिसी में एकमुश्त निवेश कर पा सकते हैं हर महीने 4 लाख रुपये पेंशन, जीवनभर मिलता रहेगा फायदा
2 -LIC Jeevan Labh पॉलिसी में रोजाना 280 रुपये का निवेश कर, पाएं 20 लाख, जानें क्या है ये पूरा प्लान

आप अपना सुझाव हमें निचे कमेंट बॉक्स में दे सकते है। अगर आपको किसी और सब्जेक्ट के बारे में कोई सुझाव चाहिए तो जरूर लिखे.

धन्यवाद !

अशोक कुमार
AG Investment

आईपीओ –  एमआरपी एग्रो लिमिटेड  (IPO- MRP AGRO LIMITED)

आईपीओ – एमआरपी एग्रो लिमिटेड (IPO- MRP AGRO LIMITED)

2018 में शामिल, एमआरपी एग्रो लिमिटेड मुख्य रूप से खाद्यान्न, फ्लाई-ऐश और कोयला उत्पादों के व्यापार और आयात और निर्यात में लगी हुई है। व्यापार B2B (व्यापार के लिए व्यापार) मॉडल है, जिसमें, यह नीलामी के माध्यम से थोक में घरेलू बाजार से उत्पादों की खरीद और थोक विक्रेताओं को बेचता है।

एमआरपी एग्रो के पास मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ के स्थानीय बाजार से अनाज खरीदने के लिए स्थानीय मंडी लाइसेंस है, साथ ही कोयला खरीदने के लिए झारखंड सरकार के खान एवं भूविज्ञान विभाग के साथ एक पंजीकृत डीलर भी है। कंपनी ने ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में एक मजबूत व्यापार नेटवर्क बनाया है और इन-हाउस गुणवत्ता निरीक्षण विभाग के माध्यम से उत्पाद गुणवत्ता मानक को बनाए रखता है।

5 मिनट में भारत का नंबर 1 डीमैट खाता खोलने के लिए यहां क्लिक करें

प्रतिस्पर्धी ताकतStrengths

  • मजबूत गुणवत्ता मानक और आश्वासन।
  • शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ा वितरण नेटवर्क।
  • अत्यधिक अनुभवी प्रमोटर।


कंपनी प्रमोटर:

श्री मनीष कुमार जैन, श्रीमती रक्षा जैन और मनीष कुमार जैन एचयूएफ कंपनी के प्रमोटर हैं।

Financials:

ParticularsFor the year/period ended (₹ in lakh)
30-Sept-2031-Mar-2031-Mar-19
Total Assets430.09218.44261.86
Total Revenue857.073634.511873.31
Profit After Tax14.2418.9011.96

MRP Agro IPO Details

IPO Opening DateFeb 8, 2021
IPO Closing DateFeb 10, 2021
Issue TypeFixed Price Issue IPO
Face Value₹10 per equity share
IPO Price₹40 per equity share
Market Lot3000 Shares
Min Order Quantity3000 Shares
Listing AtBSE SME
Issue Size810,000 Eq Shares of ₹10
(aggregating up to ₹3.24 Cr)
Fresh Issue810,000 Eq Shares of ₹10
(aggregating up to ₹3.24 Cr)

एमआरपी एग्रो आईपीओ लॉट साइज

एमआरपी एग्रो आईपीओ मार्केट लॉट साइज 3000 शेयर है। एक खुदरा-व्यक्तिगत निवेशक 1 लॉट (3000 शेयर या ₹ 120,000) के लिए आवेदन कर सकता है।

ApplicationLotsSharesAmount (Cut-off)
Minimum13000₹120,000
Maximum13000₹120,000

एमआरपी एग्रो आईपीओ प्रमोटर होल्डिंग

प्री इश्यू शेयर होल्डिंग 55.82%

पोस्ट इश्यू शेयर होल्डिंग ——

अपने विचार साझा करें

हेरंबा इंडस्ट्रीज लिमिटेड आईपीओ – 23-25 Feb 2021

IPO में 7500 रुपए का एक लॉट कर सकता है सेबी

जैसा की आप जानते है , अभी आईपीओ में अप्लाई करने के लिए 15000 का टिकट साइज होता था। जिससे छोटे इन्वेस्टर को इन्वेस्ट करने में दिक्कत होती थी। जिसे घटाने पर विचार चल रहा है यानी IPO में निवेश की रकम 15,000 रुपए से घटाकर 7,500 रुपए करने की तैयारी में है- SEBI

5 मिनट में भारत का नंबर 1 डीमैट खाता खोलने के लिए यहां क्लिक करें

पिछले साल ऐसे कई IPO कामयाब रहे जिनमें छोटे निवेशकों ने बड़ी संख्या में पैसा लगाया था। Happiest Minds Technologies का IPO पिछले साल सबसे कामयाब इश्यू में शामिल रहा। यह 150 गुना सब्सक्राइब हुआ था। इसमें रिटेल इनवेस्टर्स का पोर्शन 70.94 गुना सब्सक्राइब हुआ था। वहीं इस साल बेक्टर्स फूड का IPO 68 गुना सब्सक्राइब हुआ था।

वहीं Mazagon Dock में रिटेल इनवेस्टर्स का सब्सक्रिप्शन 36  गुना और IRCTC में 15 गुना हुआ था। ये सभी IPO प्रीमियम पर खुले थे लेकिन रिटेल निवेशकों को बहुत कम शेयर मिल पाएं।

सेबी को कई रिटेल इनवेस्टर एसोसिएशन से इस बात की शिकायत किया था कि छोटे निवेशक ज्यादातर अच्छे IPO में पैसा नहीं लगा पाते हैं। जिसे टिकट साइज काम करना चाहिए।

इसी को ध्यान में रखते हुए SEBI ये बिचार कर रही है कि जल्द से जल्द टिकट साइज 7000 -8000 किया जाए।

Also Read:
1 -LIC जीवन शांति पॉलिसी में एकमुश्त निवेश कर पा सकते हैं हर महीने 4 लाख रुपये पेंशन, जीवनभर मिलता रहेगा फायदा
2 -LIC Jeevan Labh पॉलिसी में रोजाना 280 रुपये का निवेश कर, पाएं 20 लाख, जानें क्या है ये पूरा प्लान

आप अपना सुझाव हमें निचे कमेंट बॉक्स में दे सकते है। अगर आपको किसी और सब्जेक्ट के बारे में कोई सुझाव चाहिए तो जरूर लिखे.

धन्यवाद !

अशोक कुमार
AG Investment

IPO January 2021 – 12 आईपीओ देंगे कमाई का बेहतरीन मौका

साल 2021 में अगर आप पैसा कामना चाहते है तो अपने अकाउंट में पैसा रखे और आने वाले सभी आईपीओ में अप्लाई जरूर करे।
आईपीओ अप्लाई करने के लिए आपके पास बैंक अकाउंट के साथ DEMAT अकाउंट भी होना जरुरी है।
अभी तक आपने अपने DEMAT अकाउंट नहीं है। कोई बात नहीं अब आप अपना अकाउंट अभी घर बैठे खोल सकते है और वो भी सिर्फ 5 मिनट में।

DEMAT अकाउंट खोलने के लिए यहाँ क्लिक करे और घर बैठे अकाउंट रेडी। 5 मिनट में भारत का नंबर 1 डीमैट खाता खोलने के लिए यहां क्लिक करें

IPO -ये कंपनियां लाने वाली है

Issuer CompanyExchangeOpenCloseLot SizeIssue Price
(Rs)
Issue Size (Rs Cr)
Home First Finance Company India Limited IPOBSE, NSEJan 21, 2021Jan 25, 2021
Indigo Paints Limited IPOBSE, NSEJan 20, 2021Jan 22, 2021101488 to 14901,176.00
Indian Railway Finance Corporation Limited IPOBSE, NSEJan 18, 2021Jan 20, 202157525 to 264,633.38

इस साल जिन कंपनियों के आईपीओ आने वाले हैं उनमें इंडिगो पेंट्स, एलआईसी, रेल टेल, कल्याण ज्वैलर्स, इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉर्पोरेशन (IRFC), बजाज एनर्जी, सूर्योदय स्माल फाइनेंस बैंक, ESAF स्मॉल फाइनेंस बैंक, नजारा टेक्नोलॉजीज, ब्रुकफील्ड RIET, बार्बेक्यू नेशन, होम फर्स्ट फाइनेंस कंपनी जैसी कंपनियां शामिल हैं ।
साल 2021 में करीब एक दर्जन कंपनियां आईपीओ लाने की तैयारी में हैं. इनमें से ज्यादातर को मार्केट रेगुलेटर की मंजूरी मिल चुकी है ।

IRFC: 4600 करोड़ का आईपीओ

इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन (IRFC) का 4,600 करोड़ रुपये का आईपीओ इसी महीने आ सकता है. यह पब्लिक सेक्टर की गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी का पहला आईपीओ होगा. कंपनी एंकर निवेशकों से भी पैसा जुटाएगी. यह आईपीओ 178.20 करोड़ शेयरों का होगा. इसमें 118.80 करोड़ नए शेयर जारी किए जाएंगे जबकि सरकार 59.40 करोड़ रुपये की बिक्री पेशकश लाएगी |

IFRC IPO भारतीय रेलवे की सब्सिडियरी इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन18 Jan to 20 Jan 2021

कल्याण ज्वैलर्स: 1750 करोड़ का आईपीओ

आईपीओ का साइज 1750 करोड़ रुपये का होगा. कंपनी की आईपीओ के तहत 1,000 करोड़ रुपये तक के नए इक्विटी शेयर जारी करने और 750 करोड़ रुपये ओएफएस के जरिए जुटाने की योजना है.

रेल टेल: 700 करोड़ का आईपीओ

रेल टेल को सेबी से आईपीओ के जरिए 700 करोड़ रुपये जुटाने की मंजूरी मिल गई है. इसके तहत सरकार 8.66 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी. कैबिनेट ने दिसंबर 2018 में रेलटेल कॉरपोरेशन में 25 फीसदी तक सरकारी हिस्सेदारी बिक्री के लिए आईपीओ लाने को मंजूरी दी थी.

LIC का आईपीओ

साल 2021 में लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन आफ इंडिया (LIC) का आईपीओ आ सकता है. आईपीओ लाए जाने की कवायद लंबे समय से चल रही है, लेकिन अभी तक इस बारे में काई साफ निर्णय नहीं लिया जा सकता है. सरकार ने सबसे बड़ी बीमा कंपनी लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन आफ इंडिया (LIC) में हिस्सेदारी बेचने से पहले इसके बीमा मूल्यांकन के लिए एक्चुरियल कंपनियों से आवेदन मंगाए थे. सरकार की योजना LIC में हिस्सेदारी बेचकर इसे शेयर बाजार में लिस्ट कराने की है. इसके लिए डेलॉयट और एसबीआई कैपिटल को सलाहकार नियुक्त कर दिया गया है.

बजाज एनर्जी: 5450 करोड़ का आईपीओ

बजाज एनर्जी का आईपीओ से 5450 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य है. सेबी ने पिछले साल ही कंपनी को इसकी इजाजत दे दी थी. कंपनी द्वारा जमा कराए गए दस्तावेजों के मुताबिक, इस IPO के तहत कंपनी 5,150 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी करेगी. वहीं, कंपनी की मौजूदा शेयरधारक बजाज पावर वेंचर्स अपनी हिस्सेदारी से 300 करोड़ रुपये के शेयर बिक्री के लिए पेश करने वाली है.

इसके अलावा अन्य आईपीओ में सूर्योदय स्माल फाइनेंस बैंक 400 करोड़ का आईपीओ तो नजारा टेक्नोलॉजीज 900 से 1000 करोड़ का आईपीओ आ सकता है. ESAF स्मॉल फाइनेंस बैंक अपना 1000 करोड़ का आईपीओ ला सकता है तो होम फर्स्ट फाइनेंस कंपनी का 1500 करोड़ का आईपीओ आएगा.

इंडिगो पेंट्स: 1000 करोड़ का आईपीओ

इंडिगो पेंट्स को सेबी से आईपीओ लाने की मंजूरी मिल गई है. आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के जरिये 1,000 करोड़ रुपये जुटाने की मंजूरी मिल गई है. दस्तावेजों के अनुसार, आईपीओ के तहत 300 करोड़ रुपये नए शेयर जारी किए जाएंगे. जबकि ऑफर फार सेल (OFS) के जरिए 58 लाख शेयरों को जारी करेगी. इसमें सिकोया कैपिटल द्वारा अपने दो फंड्स, यानी कि SCI इन्वेस्टमेंट्स 4 और SCI इन्वेस्टमेंट्स 5, तथा प्रमोटर सेलिंग शेयरहोल्डर में हेमंत जालान अपने शेयरों की बिक्री करेंगे. कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी, एडलवाइस फाइनेंशियल सर्विसेज और आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज निर्गम के बुक रनिंग लीड प्रबंधक हैं.

Also Read:
1 -LIC जीवन शांति पॉलिसी में एकमुश्त निवेश कर पा सकते हैं हर महीने 4 लाख रुपये पेंशन, जीवनभर मिलता रहेगा फायदा
2 -LIC Jeevan Labh पॉलिसी में रोजाना 280 रुपये का निवेश कर, पाएं 20 लाख, जानें क्या है ये पूरा प्लान

Best Penny Stocks under Rs.10 for portfolio

Penny Stocks Under Rs 10 पेनी स्टॉक ऐसे स्टॉक हैं जो अल्प कीमतों पर व्यापार करते हैं। वे स्टॉक हैं जो भारतीय संदर्भ में 10 रुपये से नीचे कारोबार करते हैं। अधिकांश निवेशक उनसे दूर रहते हैं क्योंकि उनके मूल सिद्धांतों के बारे में जानकारी आसानी से उपलब्ध नहीं है, या...

आपकी वॉचलिस्ट में जोड़ने के लिए 100 रुपये से कम के शीर्ष (TOP ) स्टॉक

Top Stocks Under Rs 100 एनएसई और बीएसई में 100 रुपये से कम के शेयरों के साथ बहुत सारे स्टॉक हैं। इसमें, हमने सूची में से चुनने के लिए शीर्ष स्टॉक प्रस्तुत किए हैं। Top Stocks Under Rs 100 #1 – SAIL जनवरी 1973 में एक महारत्न कंपनी, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया या सेल की...

LIC न्यू पेंशन प्लस प्लान Table No- 867 की पूरी जानकारी

LIC न्यू पेंशन प्लस प्लान (LIC New Pension Plus) जिसकी तालिका संख्या 867 है, 5 सितम्बर 2022 को लॉन्च होने वाली है। इसके लॉन्च होते ही, यह एलआईसी की तीसरी पॉलिसी बन जायेगी जो 2022 में लॉन्च हुई है। LIC न्यू पेंशन प्लस प्लान 867 यूनिट लिंक्ड पेंशन प्लान है इसका मतलब यह...

बचाए 101 रुपये प्रतिदिन और मिलेंगे 22,00,000 लाख बेटी के कन्यादान में।

बचाए 101 रुपये प्रतिदिन और मिलेंगे 22,00,000 लाख बेटी के कन्यादान में। कन्यादान योजना केवल आपके लिए - Click to opn...

Stock to Buy: This Oil Stock can deliver upto 72% upside

– +6 Million Clients– Zero Brokerage on Equity Investments (Delivery) & Mutual Fund– Rs 20 Per Order on all other Trades – +4 Million Clients– Zero Brokerage on Equity Investments (Delivery) & Mutual Fund– Rs 20 Per Order on all other Trades – Lowest brokerage...

टाटा स्टील बनाम सेल – लाभप्रदता, भविष्य की संभावनाएं और बहुत कुछ!

Tata Steel Vs SAIL: सेल की टैगलाइन है, "हर किसी के जीवन में थोड़ा सा सेल होता है।" शब्द स्टील उद्योग के बारे में उतना ही कहते हैं जितना वे सेल के बारे में कहते हैं। हमारे आस-पास की लगभग हर चीज में स्टील हो सकता है। यह उन घरों को बनाने के लिए जाता है जिनमें हम रहते...

LIC for NRIs/FNIOs/PIOs/OCIs/Green Card holders

LIC Pension Plan Jeevan Shanti NRIs spend their whole life working abroad with a dream of a happy life when they return home after retirement. They keep investing their money in different options available viz. stocks, mutual funds, property, gold, and LIC Life...

प्रदोष व्रत की महिमा और प्रदोष व्रत करने का आसान तरीका

रवि प्रदोष व्रत 2022: आषाढ़ का पहला प्रदोष व्रत 26 जून को, इन उपायों से करें, भगवान शिव को प्रसन्न रवि प्रदोष व्रत -  हिंदू पंचांग के अनुसार हर महीने दो प्रदोष व्रत पड़ते हैं। भगवान भोलेनाथ को समर्पित यह व्रत कृष्ण और शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि को रखा जाता है। इस...

2.77 लाख रु निवेश करें और पाएं 10 लाख रु, ये है स्कीम-LIC

भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) देश की सबसे बड़ी और सरकारी बीमा कंपनी है। इसके पास कई बीमा पॉलिसियां हैं। इनमें से एक है जीवन आनंद पॉलिसी, जो भरोसेमंद है और निवेशकों को तगड़ा रिटर्न दिलाती है। आज हम आपको इस एलआईसी पॉलिसी के बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं। ये दो...

2021 के पहला IPO आपके लिए देगा मोटी कमाई

IFRC IPO भारतीय रेलवे की सब्सिडियरी इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन

1986 में शामिल, भारतीय रेलवे वित्त निगम (आईआरएफसी) एक सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम है, जो पूरी तरह से भारत सरकार के स्वामित्व में है। आईआरएफसी मुख्य रूप से रोलिंग स्टॉक परिसंपत्तियों के अधिग्रहण, रेलवे अवसंरचना परिसंपत्तियों को पट्टे पर देने और रेल मंत्रालय (एमओआर) के तहत संस्थाओं को ऋण देने में लगी हुई है । भारतीय रेलवे की उधारी शाखा होने के नाते, आईआरएफसी एमओआर के लिए धन जुटाने के लिए जिम्मेदार है जो रोलिंग स्टॉक परिसंपत्तियों (वैगन, ट्रक, इलेक्ट्रिक मल्टीपल यूनिट्स, लोकोमोटिव, कोच), इसके सुधार, विस्तार और संपत्ति प्रबंधन की खरीद के लिए आवश्यक है।

यह 30 साल की लीज अवधि के लिए रोलिंग स्टॉक एसेट्स प्रोक्योरमेंट के वित्तपोषण के लिए एक वित्तीय पट्टे पर देने के मॉडल का अनुसरण करता है । वित्त वर्ष 2019 में भारतीय रेलवे द्वारा वास्तविक पूंजीगत व्यय 1,334 अरब रुपये था, जिसमें से आईआरएफसी ने 39.34% व्यय के लिए 525.35 अरब रुपये का वित्तपोषण किया।

प्रतिस्पर्धी ताकत

  • भारतीय रेल विकास में रणनीतिक भूमिका।
  • क्रेडिट रेटिंग – क्रिसिल एएए/ए1 + (AAA+) और आईसीआरए एएए/ए1 + (ICRA AAA/A1+) ।
  • मजबूत वित्तीय प्रदर्शन।

5 मिनट में भारत का नंबर 1 डीमैट खाता खोलने के लिए यहां क्लिक करें

कंपनी प्रमोटर:
रेल मंत्रालय (एमओआर) के माध्यम से कार्य करने वाले भारत के राष्ट्रपति कंपनी के प्रमोटर हैं।

कंपनी वित्तीय:
वित्तीय सूचना का सारांश

ParticularsFor the year/period ended (Rs in million)
30-Sep-2031-Mar-2031-Mar-1931-Mar-18
Total Assets29,19,865.8127,55,041.2920,64,382.9516,14,510.41
Total Revenue73,848.291,34,210.901,09,873.5592,078.39
Profit After Tax18,868.4131,920.9621,399.3320,014.60

IRFC IPO Details

IPO Opening DateJan 18, 2021
IPO Closing DateJan 20, 2021
Issue TypeBook Built Issue IPO
Face Value₹10 per equity share
IPO Price₹25 to ₹26 per equity share
Market Lot575 Shares
Min Order Quantity575 Shares
Listing AtBSE, NSE
Issue Size1,782,069,000 Eq Shares of ₹10
(aggregating up to ₹4,633.38 Cr)
Fresh Issue1,188,046,000 Eq Shares of ₹10
(aggregating up to ₹[.] Cr)
Offer for Sale594,023,000 Eq Shares of ₹10
(aggregating up to ₹[.] Cr)

IRFC IPO Tentative Timetable

The IRFC IPO open date is Jan 18, 2021, and the close date is Jan 20, 2021. The issue may list on Jan 29, 2021.

IPO Open DateJan 18, 2021
IPO Close DateJan 20, 2021
Basis of Allotment DateJan 25, 2021
Initiation of RefundsJan 27, 2021
Credit of Shares to Demat AccountJan 28, 2021
IPO Listing DateJan 29, 2021

IRFC IPO Lot Size

The IRFC IPO market lot size is 575 shares. A retail-individual investor can apply for up to 13 lots (7475 shares or ₹194,350).

ApplicationLotsSharesAmount (Cut-off)
Minimum1575₹14,950
Maximum137475₹194,350

IRFC IPO Promoter Holding

Pre Issue Share Holding100%
Post Issue Share Holding86%

आईआरएफसी आईपीओ क्या है?
आईआरएफसी आईपीओ 1,782,069,000 इक्विटी शेयरों का मुख्य बोर्ड आईपीओ है जो ₹10 के अंकित मूल्य के 4,633.38 करोड़ रुपये तक है। इश्यू की कीमत ₹25 से ₹26 प्रति इक्विटी शेयर है। न्यूनतम ऑर्डर की मात्रा 575 शेयर है।

आईपीओ 18 जनवरी, २०२१ को खुलता है, और 20 जनवरी, २०२१ को बंद हो जाता है ।

केफटेक प्राइवेट लिमिटेड आईपीओ के लिए रजिस्ट्रार है । इन शेयरों को बीएसई, एनएसई पर सूचीबद्ध करने का प्रस्ताव है।

जीरोधा (ZERODHA) के माध्यम से आईआरएफसी आईपीओ में कैसे आवेदन करें?
जीरोधा ग्राहक यूपीआई को पेमेंट गेटवे के रूप में इस्तेमाल करते हुए आईआरएफसी आईपीओ में ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। जीरोधा ग्राहक जीरोधा कंसोल (बैक ऑफिस) में लॉग इन करके और आईपीओ आवेदन फॉर्म जमा करके आईआरएफसी आईपीओ में आवेदन कर सकते हैं।

जीरोधा के माध्यम से आईआरएफसी आईपीओ में लागू करने के लिए कदम

  • जीरोधा वेबसाइट पर जाएं और कंसोल करने के लिए लॉगइन करें।
  • पोर्टफोलियो में जाकर आईपीओ लिंक पर क्लिक करें।
  • ‘आईआरएफसी आईपीओ’ पंक्ति में जाएं और ‘बिड’ बटन पर क्लिक करें।
  • अपनी यूपीआई आईडी, मात्रा और कीमत डालें।
  • आईपीओ आवेदन पत्र जमा करें।
  • जनादेश को मंजूरी देने के लिए यूपीआई ऐप (नेट बैंकिंग या भीम) पर जाएं ।
  • अधिक विस्तार के लिए Zerodha आईपीओ आवेदन प्रक्रिया की समीक्षा पर जाएं ।

आईआरएफसी आईपीओ कब खुलेगा?
आईआरएफसी आईपीओ 18 जनवरी, 2021 को खुलता है और 20 जनवरी, 2021 को बंद हो जाता है।

Also Read:
1 -LIC जीवन शांति पॉलिसी में एकमुश्त निवेश कर पा सकते हैं हर महीने 4 लाख रुपये पेंशन, जीवनभर मिलता रहेगा फायदा
2 -LIC Jeevan Labh पॉलिसी में रोजाना 280 रुपये का निवेश कर, पाएं 20 लाख, जानें क्या है ये पूरा प्लान

आप अपना सुझाव हमें निचे कमेंट बॉक्स में दे सकते है। अगर आपको किसी और सब्जेक्ट के बारे में कोई सुझाव चाहिए तो जरूर लिखे.

धन्यवाद !

अशोक कुमार
AG Investment

देश का सबसे बड़ा होगा आईपीओ

एलआईसी के आईपीओ में निवेश करें या नहीं ?

OPEN INDIA’S NO-1 DEMAT ACCOUNT IN 5 MINUTES CLICK HERE

एलआईसी का इनीशियल पब्लिक ऑफर यानी आईपीओ देश में अभी तक आए किसी भी आईपीओ से भी बड़ा होगा। वैसे भी एलआईसी देश की सबसे बड़ी निवेशक कंपनी है। शेयर बाजार में लिस्टिड लगभग सभी अच्छी कंपनियों में एलआईसी की हिस्सेदारी है।
इसके अलावा एलआईसी के शेयर बाजार में निवेश की वैल्यू देश के कुल म्यूचुअल फंड कंपनियों से भी ज्यादा है। देश में म्यूचुअल फंड की 45 कंपनियों की जितना आसेट एसेट मैनेजमेंट यानी एयूएम है, उससे ज्यादा एलआईसी ने शेयर बाजार में निवेश कर रखा है। एलआईसी का शेयर बाजार में कुल निवेश लगभग 29.19 लाख करोड़ रुपये है, जबकि देश में 45 म्यूचुअल फंड की एयूएम करीब 27.28 लाख करोड़ रुपये है।

10 लाख करोड़ रुपये हो सकती है वैल्यूएशन

एलआईसी की लिस्टिंग देश में अब तक की सबसे बड़ी लिस्टिंग हो सकती है। लिस्ट होने के बाद एलआईसी की मार्केट कैप आरआईएल, एचडीएफसी बैंक और टीसीएस जैसी कंपनियों से भी ज्यादा हो सकती है। एलआईसी के वर्तमान असेट अंडर मैनेजमेंट और बिजनेस प्रीमियम को आधार मानें तो इसकी वैल्यूएशन 8 लाख करोड़ से लेकर 10 लाख करोड़ रुपये के आसपास रह सकती है। यही नहीं सिर्फ एलआईसी की लिस्टिंग से भारत के शेयर बाजार की ग्लोबल रेटिंग बदल सकती है।

रिटेल निवेशकों को मिल सकती है
अच्छी भागीदारी जब भी सरकारी कंपनियों की लिस्टिंग होती है, तो सरकार खुदरा यानी रिटेल निवेशकों को पूरा ध्यान रखती है। रिटेल निवेशकों के लिए आईपीओ का काफी बड़ा हिस्सा अलग रखा जाता है और कई बार कुछ कम रेट पर यानी डिस्काउंट पर भी एलाट किया जाता है। उम्मीद है कि एलआईसी शेयर बाजार करीब 80 हजार करोड़ रुपये जुटाएगी। ऐसे में खुदरा निवेशकों का 35 प्रतिशत का किस्सा 25 हजार करोड़ रुपये से लेकर 28 हजार करोड़ रुपये तक हो सकता है। वित्तीय बाजार के जानकारों की राय है कि जब भी एलआईसी का आईपीओ आएगा तो करीब 1 करोड़ नए डीमैट अकाउंटFree Demat खुलेंगे।

एलआईसी को प्रीमियम से मिलता है करीब 4 लाख करोड़ रुपये

एलआईसी की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार कैलेंडर वर्ष 2019 में कुल प्रीमियम के रूप में 3,79,400 करोड़ रुपये मिला था। देश में सभी निजी जीवन बीमा कंपनियों की जारी की गई पॉलिसी की संख्या 70 लाख है, जबकि केवल एलआईसी की जारी की गई पॉलिसियों की संख्या ही 2.19 करोड़ है। इसी से एलआईसी के आकार का अंदाजा लगाया जा सकता है।

एलआईसी के पास हैं करीब 12 लाख एजेंट

एलआईसी कितनी बड़ी कंपनी है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसके पास करीब 12 लाख से ज्यादा एजेंट का नेटवर्क है। कश्मीर से कन्याकुमारी तक देश के हर कोने में इसके एजेंट फैले हुए हैं। इन एजेंट की देखरेख करने के लिए एलआईसी की देश में करीब 6,500 शाखाएं हैं।

Also Read:
1 -LIC जीवन शांति पॉलिसी में एकमुश्त निवेश कर पा सकते हैं हर महीने 4 लाख रुपये पेंशन, जीवनभर मिलता रहेगा फायदा
2 -LIC Jeevan Labh पॉलिसी में रोजाना 280 रुपये का निवेश कर, पाएं 20 लाख, जानें क्या है ये पूरा प्लान

——————————————————————————————————