Best Stocks Under Rs 50 – Analysis & Top Picks

Best Microcap Stocks Under Rs 50 – Analysis & Top Picks

Best Microcap Stocks Under Rs 50: Emerging microcap stocks are like rockets which can give multi-bagger returns to their shareholders. They are small in size and any growth in profits happens on a low base, taking their stock prices to new highs.

After huge success, I am adding new Microcap Stock under Rs.50

However, it is difficult to spot emerging microcap stocks from such a large pool of companies. In this article, we’ll present you the best microcap stocks under Rs 50 which you can to your watchlist.

Best Microcap Stocks Under Rs 50

For our article on ‘best microcap stocks under Rs 50’, we’ll learn about 5 different companies, studying their business models, key metrics, strengths and any recent developments. Later, a list puts together more stocks and a summary concludes the article. So without further ado, let us jump in.

Best Microcap Stocks Under Rs 50

#1 – Orient Paper & Industries

CK Birla group
ParticularsAmountParticularsAmount
CMP₹48Market Cap (Cr.)₹1,039.71
EPS₹5Stock P/E8.05
RoE6%RoCE8%
Promoter Holding39%Book Value₹71
Debt to Equity0.18Price to Book Value0.61
Net Profit Margin9.5%Operating Margin17.2%

Part of C.K. Birla Group, Orient Paper & Industries Ltd is India’s largest tissue paper manufacturing and exporting company. It is engaged in the manufacturing of paper and paper-based products for various end applications.

Orient Paper makes cartridge paper, drawing paper, cup stock, MF cover paper, pulpboard, HRT towel, ice cream paper, and more. It owns 1 manufacturing plant and 5 offices. Its products are supplied to 21 states and 4 union territories across India. 

Furthermore, the paper producer has a global presence with 11.3% of its income coming from customers located in 8 different countries across the globe.

Along with the paper & tissue business, Orient also has a chemicals division under which it manufactures caustic soda. The paper & tissue division and chemicals division accounted for 81.71% and 17.37% of the total revenue in FY23 respectively.

The microcap stock under Rs 50 presently trades at a P/E of 8.05 giving a market capitalization of Rs 1,039.71 crore to the company. Orient earned a net profit of Rs 99 crore on sales of Rs 943 crore. 

Best Microcap Stocks Under Rs 50 #2 – XT Global Infotech

Best Microcap Stocks Under Rs 50 - XT Global Logo
ParticularsAmountParticularsAmount
CMP₹40Market Cap (Cr.)₹534.53
EPS₹1Stock P/E50.61
RoE11%RoCE13%
Promoter Holding63%Book Value₹12
Debt to Equity0.23Price to Book Value3.64
Net Profit Margin6.5%Operating Margin10.1%

Founded 25 years ago in 1998, XT Global Infotech is one of the leading providers of information technology, business process outsourcing, and consulting services. 

XT Global offers a broad range of solutions and services such as Oracle Cloud, Oracle integration, Oracle analytics, application transformation management, cloud & infrastructure, AP automation, digital business services, and more.

The net profit of the technology company increased fourfold from Rs 4 crore in FY20 to Rs 16 crore in FY23. During this period, it reported profits consistently. Similarly, its sales increased from Rs 195 crore in FY20 to Rs 242 crore in FY23.

As a technology business, it trades at a slightly higher P/B ratio of 3.65 and a P/E ratio of 50.61. XT Global Infotech has a high promoter holding of 62.8% and is currently valued at Rs 534.53 crore.

Best Microcap Stocks Under Rs 50 #3 – BMW Industries

BMWIL Industries Logo
ParticularsAmountParticularsAmount
CMP₹46.52Market Cap (Cr.)₹1,047.55
EPS₹2Stock P/E17.05
RoE9%RoCE12%
Promoter Holding74%Book Value₹27
Debt to Equity0.39Price to Book Value1.53
Net Profit Margin9.7%Operating Margin23.1%

BMW Industries was started in 1970 as the first tube mill company in Kolkata. It started producing lighting poles soon. Over the years, it has grown into a leading steel products player in the nation.

It owns five manufacturing facilities across Howrah and Jamshedpur which churn out TMT, structural, poles, low-diameter pipes, HR & CR coils, speciality flats, high-diameter pipes, and more.

It has well-established partnerships with India’s two steel giants: Tata Steel Limited (TSL) and Steel Authority of India Limited (SAIL). BMW Industries works alongside them in joint ventures and takes projects from them.

It has a total installed capacity of 5,72,000 tonnes per annum. It has a large order from Tata Steel to manufacture and supply 3,00,000 MTPA TMT rebars till 2025 for which it has invested Rs 400 crore.

As a feather in its cap, this microcap stock under Rs 50 has a high promoter shareholding of 74% highlighting promoters’ belief in the business. It earned a profit of Rs 54 crore in FY23, the largest ever in its history on the sale of Rs 562 crore.

Best Microcap Stocks Under Rs 50 #4 – Virinchi

Best Microcap Stocks Under Rs 50 - virinchi Logo
ParticularsAmountParticularsAmount
CMP₹39Market Cap (Cr.)₹320
EPS₹2Stock P/E16
RoE3%RoCE8%
Promoter Holding41%Book Value₹48
Debt to Equity0.78Price to Book Value0.83
Net Profit Margin4.1%Operating Margin34.0%

Three decades old, Virinchi is a prominent software products and services company with an international presence. Along with its IT business, it also has a healthcare division under which it operates 3 hospitals with a total capacity of 700 beds.

Talking about its IT products and services portfolio, it offers a Saas loan management platform for NBFCs, data centres & IT services, and UPI-enabled payment & credit services.

Furthermore, as part of its expansion efforts, it is adding 400 more beds to its healthcare division through 2 hospitals. Virinchi has been putting focused efforts behind its ‘vCard’ brand to capture the organised credit market in India.

The diversified services provider has consistently remained profitable over the last ten years. Virinchi earned a net profit of Rs 13 crore in FY23 on the sale of Rs 312 crore. At the current P/E ratio of 16.64, it gives a market capitalization of Rs 320.03 crore to the company. 

Best Microcap Stocks Under Rs 50 #5 – Wardwizard Innovations & Mobility

Ward Wizard Logo
ParticularsAmountParticularsAmount
CMP₹40Market Cap (Cr.)₹1,047
EPS₹0.4Stock P/E114
RoE13%RoCE18%
Promoter Holding70%Book Value₹3
Debt to Equity0.16Price to Book Value10.90
Net Profit Margin4.0%Operating Margin8.0%

Wardwizard Innovations & Mobility is a microcap electric vehicles (EV) company engaged in the production and sale of electric bikes and scooters through company outlets and a large dealer network.

One of the front runners in India’s EV sector, it launched its first electric bicycle in 2016. In the last seven years, it has grown into a full-fledged EV player with a broad product range from high-speed e-bikes to 3-wheelers.

It has a large production facility of 90,000 sq ft giving it an annual capacity of 1,20,000 units for 2-wheelers and 3-wheelers each. 

It sold 36,500 EVs during FY23 totaling an income of Rs 239 crore and resulting in a net profit of Rs 9 crore. Recently, the EV player also started an in-house batter assembly line with an annual capacity of 1 GWh.

As for its geographical presence, it has a presence in more than 50 cities across 19 states and union territories of the nation through its 750+ dealers, 4 zonal offices and 1 branch office.

List of Top Microcap Stocks Under Rs 50

We are almost at the end of our article on ‘best microcap stocks under Rs 50’. The table below compiles more stocks along with the ones covered above.

Company NameCMPMarket Cap (Cr)Industry
Orient Paper & Industries₹48.95₹1,039.71Paper & Paper Products
XT Global Infotech₹40.1₹534.53IT Services
BMW Industries₹46.52₹1,047Steel
Virinchi₹35.2₹320.03IT Services
Wardwizard Innovations & Mobility₹40.1₹1,047.99Electric Vehicles
Megasoft₹50₹379IT Services
Pudumjee Paper Products₹49.7₹471.71Paper & Paper Products
Kothari Sugars & Chemicals₹60₹506Sugar
VIP Clothing₹44₹363Textiles
Manaksia Steels₹43₹279Steel

Conclusion

As we conclude our study of the ‘best microcap stocks under Rs 50’, we can say that companies with higher earnings potential in the future are better placed than their peers. Thus, even if a business is small in size, it can be an attractive proposition if the management is putting sustained efforts towards capacity expansion or newer business lines.

bls e services ipo

BLS E-Services IPO is a book built issue of Rs 310.91 crores. The issue is entirely a fresh issue of 2.3 crore shares. BLS E-Services IPO bidding started from January 30, 2024 and ended on February 1, 2024. The allotment for the BLS E-Services IPO is expected to be...

बड़े से बड़ा नास्तिक हो जाए आस्तिक

बहुत से लोग नास्तिक होते हैं, लेकिन फिर उनके साथ ऐसा कुछ होता है कि वे भगवान में विश्वास करने लग जाते हैं।  भोलानाथ बिहार के एक छोटा सा गांव चकिया में रहता था। वह मेडिकल दुकान चलाता था। सारी दवाइयों की उसे अच्छी जानकारी थी। पूरी दुकान खुद संभालता था, इसलिए कौन-सी दवा...

Best Stocks Under Rs 50 – Analysis & Top Picks

Best Microcap Stocks Under Rs 50 – Analysis & Top Picks Best Microcap Stocks Under Rs 50: Emerging microcap stocks are like rockets which can give multi-bagger returns to their shareholders. They are small in size and any growth in profits happens on a low base,...

Tata Chemicals Vs Aarti Industries

Tata Chemicals Vs Aarti Industries – Financials, Future Plans & More Tata Chemicals Vs Aarti Industries: Chemical companies were the trend a few quarters ago with almost all of them giving multi-bagger returns. However, the margins and volume came down, and so did...

एक मिनट लगेगा, आपकी जिंदगी में बड़ा परिवर्तन न आ जाये तो कहना !

एक मिनट लगेगा, आपकी जिंदगी में बड़ा परिवर्तन न आ जाये तो कहना एक व्यक्ति गाड़ी से उतरा... और बड़ी तेज़ी से एयरपोर्ट में घुसा, जहाज़ उड़ने के लिए तैयार था, उसे किसी कार्यकर्म मे पहुंचना था जो खास उसी के लिए आयोजित किया जा रहा था. वह अपनी सीट पर बैठा और जहाज़ उड़ गया... अभी कुछ...

टाटा मोटर्स 5,408 करोड़ रुपये के चौथी तिमाही के शुद्ध लाभ और 2 रुपये प्रति शेयर के Dividend

Tata Motors Good News टाटा मोटर्स ने 12 मई को मार्च में समाप्त तिमाही में समेकित शुद्ध लाभ 5,407.79 करोड़ रुपये पर ला दिया, जबकि पिछले साल की समान तिमाही में 1,032.84 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था। परिचालन से राजस्व 1,05,932.35 करोड़ रुपये पर आ गया, जो पिछले वर्ष...

Nerolac Paints 401% Q4 PAT growth, Board Announce 1:2 bonus share and 270% dividend

2 पर 1 शेयर बोनस के तौर पर देगी कंपनी कंसाई नेरोलैक पेंट्स ने सोमवार को चौथी तिमाही के मजबूत नतीजों की घोषणा की है। एक साल पहले जनवरी-मार्च की अवधि में 19.17 करोड़ रुपये के समेकित शुद्ध लाभ की तुलना में, कंसाई नेरोलैक पेंट्स लिमिटेड ने मार्च 2023 को समाप्त चौथी तिमाही...

Multibagger Stock 2023 -GSFC

SE:GSFC Gujrat State Fertilizers & Chemicals Limited (GSFC): GFSC share price target 1. GSFC is a chemicals and fertilizers manufacturer owned by the Government of Gujarat, India. 2. It was founded in 1962 and is headquartered in Vadodara. 3. Fertilizers like...

LIC Jeevan Azad Guaranteed Plan: Details Sum Assured, Duration, Age Limit & Other Key Features, Benefits

The Life Insurance Corporation of India (LIC) has launched LIC Jeevan Azad Plan, offering death benefits and an assured maturity sum in the event the policyholder survives. The plan’s minimum sum assured is Rs 2 lakh, and the maximum is Rs 5 lakh. The subscriber won’t...

Multibagger Stock – PNG – Petronet PNG Ltd

NSE:PETRONET Petronet LNG Ltd is an Indian oil and gas company formed by the government of India to import liquefied natural gas and set up LNG terminals in the country. CEO: Akshay Kumar Singh (1 Feb 2021–) Founded: 2 April 1998 Headquarters: New Delhi Number of...
Tata Chemicals Vs Aarti Industries

Tata Chemicals Vs Aarti Industries

Tata Chemicals Vs Aarti Industries – Financials, Future Plans & More

Tata Chemicals Vs Aarti Industries: Chemical companies were the trend a few quarters ago with almost all of them giving multi-bagger returns. However, the margins and volume came down, and so did the stock prices.

However, they are in fashion again with heavy CAPEX announcements. Are they expanding for a brighter future and are attractive to investors again?

In this article, we’ll do a comparative analysis of Tata Chemicals Vs Aarti Industries and attempt to know which of them is better suited for an investor.

Tata Chemicals Vs Aarti Industries

For our study, we’ll read about the business and financials of both stocks. Further, we’ll learn about the chemicals industry landscape and their future plans. So without further ado, let us move ahead.

Company Overview

As the first step, we’ll understand the business, scale of operations and segments of both the stocks

Tata Chemicals

Tata Chemicals Vs Aarti Industries - Tata Chemicals Logo

Part of the salt to software conglomerate the Tata Group, Tata Chemicals Ltd. (TCL) is the 3rd largest soda ash and 6th largest sodium bicarbonate manufacturer worldwide. The business group holds a 38% shareholding in the chemicals company.

Set up in 1939, TCL has evolved into one of the leading chemicals and specialty chemicals companies in India with a global presence. It manufactures basic chemistry and specialty products such as table salt, soda ash, halogen chemicals, silica, prebiotics, and more.

The chemicals produced by the company are consumed in a variety of sectors such as glass manufacturing, paper products, medicines & drugs, pharmaceutical and more.

It has a large operational base with 13 production units and 3 R&D centres located in the US, United Kingdom, Kenya and India.  Over the years, it has built a robust marketing network in 30 nations of the world.

In addition to this, TCL has a listed subsidiary, Rallis India, which manufactures and processes seeds and crop care chemicals.

Business Segments of Tata Chemicals

As for its business segments, the basic chemistry division is the largest division accounting for 81% of the income generated in FY23. The balance of 19% came from specialty products. 

Talking about geographical revenue contribution, India and America bought the majority of 43% and 33% of revenue while the balance came from other Asian countries, Europe, Africa and other regions respectively.

Aarti Industries

Aarti Industries Limited logo

Aarti Industries Ltd. (AIL) was started in 1984 as Aarti Organic Private Limited. Over the last 40 years, it has grown into one of the leading chemical companies in India with a global presence. It ranks among the top three chlorination & nitration and top two hydrogenation companies worldwide. 

Aarti Industries manufactures a wide variety of benzene, sulphuric and toluene specialty chemicals. Furthermore, it produces fuel additives, calcium chloride granules, SSP, and more. 

Its products find applications in agrochemicals, pharmaceuticals, pigments, polymer additives, FMCG, rubber, and other industries. DuPont, Indian Oil, BASF, Sumitomo Chemical, Atul, and UPL are some of the high-profile clients of the company. 

It employs over 6,000 people across its 16 manufacturing plants, 2 research & development centres, 11 discharge plants, 5 captive power plants, 1 corporate office and 1 project & engineering office.

The chemicals maker has an extensive portfolio of 100+ products which are used by 1,100+ Indian & international customers from more than 60 countries.

Business Segments of Aarti Industries

Talking about its revenue segments, agrochemicals and polymer & additives are the two largest divisions for the company accounting for 30% and 26% of income share respectively.

The contribution of pharmaceuticals, dyes & pigments and FMCG stood at 18%, 12%, and 2% respectively with the balance of 12% coming from a mix of discretionary sectors.

As for the geographical income distribution, Indian and overseas customers brought an equitable revenue share of 52% and 48% respectively.

Industry Overview

Indian chemicals industry commands a 4% market share (worth $ 186 billion) in the global chemicals industry valued at $ 5,027 billion. China, the European Union and the US are the largest markets commanding 39%, 15% and 13% share respectively. 

The sector worldwide is segmented into bulk commodity chemicals (80% share) and specialty chemicals (20% share). As for the sector-wise distribution in India, basic chemistry formulations (25%), biotech & pharmaceuticals (20%), specialty grade (21%), and petrochemicals (21%) are the primary industry segments.

Talking about the future industry prospects, the global chemicals industry is expected to grow at an annualised rate of 6.2% to touch $ 6,780 by the year 2025. The outlook for India’s chemicals sector is stronger. 

For the domestic industry, the market experts have projected a CAGR of 12.2% during the period to become $ 330 billion in value. A variety of factors including higher income, a steady rise in healthcare expenditure, rapid urbanization, faster growth in certain sub-segments (personal care, home care, & food processing), and more will be the primary demand drivers going forward.

Tata Chemicals Vs Aarti Industries

Revenue & Net Profit Growth

The operating revenue of Tata Chemicals increased at a faster annualised rate of 13% in the past five fiscals than that of Aarti Industries at 9%. Similarly, the former’s net profit growth was also impressive at 20% against 3% of the latter.

The table below showcases the growth in operating revenue and net profit of Tata Chemicals and Aarti Industries over the last five financial years.

Particulars202320222021202020195-Yr CAGR
Tata Chemicals – Operating Revenue16,78912,62210,20010,35710,33713%
Tata Chemicals – Net Profit2,4521,4004361,0281,16320%
Aarti Industries – Operating Revenue6,6196,0864,5064,1864,7069%
Aarti Industries – Net Profit5451,1865235364923%

(figures in Rs Cr except for CAGR)

Note: Aarti Industries FY22 net profit is inflated on account of the demerger of its pharmaceutical business. 

Profit Margins

In FY23, Tata Chemicals reported better margins than Aarti Industries on the back of heavy volumes and strong demand. Previously, AIL’s margins were more than that of its counterpart. 

The figures below represent the operating profit margin and net profit margin of Tata Chemicals and Aarti Industries for the past few years.

Particulars20232022202120202019
Tata Chemicals – Operating Profit Margin18.813.96.615.415.7
Tata Chemicals – Net Profit Margin14.59.34.39.912.5
Aarti Industries – Operating Profit Margin11.823.416.719.117.1
Aarti Industries – Net Profit Margin8.218.711.913.110.7

(figures in %)

Return Ratios

We read above in our comparative analysis of Tata Chemicals Vs Aarti Industries that the Tata Group company saw a turnaround in the recent fiscal. Higher profitability helped the company to post better return ratios for investors. Similarly, Aarti’s RoCE and RoE fell on account of lesser profits.

The table below compares the two return ratios: RoCE and RoE of Tata Chemicals and Aarti Industries for the previous few financial years.

Particulars20232022202120202019
Tata Chemicals – Debt / Equity0.30.40.40.40.4
Tata Chemicals – Interest Coverage10.08.54.74.74.6
Aarti Industries – Debt / Equity0.60.40.70.60.8
Aarti Industries – Interest Coverage6.516.98.76.44.4

(figures in %)

Debt Analysis

During the study period, the debt situation of Tata Chemicals improved significantly with improvement in its interest coverage ratio and debt-to-equity. The reduction in Aarti Industries’ figures was not pronounced because of the large capital expenditure underway.

The table below showcases the debt/equity ratio and interest coverage ratio of Tata Chemicals and Aarti Industries over the last five fiscals.

Particulars20232022202120202019
Tata Chemicals – RoCE10.46.64.17.77.1
Tata Chemicals – RoE11.76.91.87.59.4
Aarti Industries – RoCE13.422.414.318.120.5
Aarti Industries – RoE11.122.114.918.018.7

Tata Chemicals Vs Aarti Industries  Future Plans

So far we looked at the previous fiscals’ data for our comparative study of Tata Chemicals vs Aarti Industries. Let us try to get some sense of what lies ahead for the two companies and their investors.

Tata Chemicals

  1. The Tata Group company spent Rs 2,100 in FY23 as capital expenditure to increase production capacity. Furthermore, the management has guided Rs 800 crore CAPEX for FY24.
  2. For the medium-term period till FY27, Tata Chemicals has CAPEX plans worth Rs 2,000 crore.
  3. Along these lines, the management has anticipated achieving volume growth of 30%, 40%, and 400% for soda, bicarbonate, and silica respectively. This growth guidance is after incorporating current CAPEX as the base.
  4. Lastly, its listed subsidiary Rallis India is also putting efforts to grow its product portfolio and drive sales growth in the future.

Aarti Industries

  1. Aarti Industries has consistently spent over Rs 1,000 crore every year over the last four years towards capital expenditure. Its CAPEX stood at Rs 1,306 crore in FY23.
  2. Furthermore, the management has earmarked additional CAPEX of roughly Rs 3,000 crore for the next few years.
  3. The chemicals maker had 40+ products in its R&D pipeline at the end of FY23, highlighting growth opportunities in the future.
  4. Along these lines, the company has plans to increase production capacity for Chlorotoulene, NCB, NT, Ethylation, and more products.

Tata Chemicals Vs Aarti Industries  Key Metrics

We are almost at the end of our Tata Chemicals Vs Aarti Industries comparative analysis. Let us take a quick look at some of the key metrics of the two stocks.

ParticularsTata ChemicalsAarti Industries
CMP₹1,004.65₹461.25
Market Cap (Cr.)₹25,571₹16,385
EPS₹89₹15
Stock P/E11.431.5
RoE11.7%11.1%
Book Value₹774₹136
Price to Book Value1.313.49
Promoter Holding38.0%43.6%

Conclusion

As we conclude our comparative study of Tata Chemicals Vs Aarti Industries, we can say that the recent fiscal was not good for AIL while for TCL it turned out to be a stellar one. However, Aarti Industries still trades at an expensive valuation highlighting investors’ belief in the future prospects and CAPEX execution.

In your opinion, which of the two is better placed? The legacy business of Tata Chemicals of Aarti Industries? How about we continue this conversation in the comments below?

Best Stocks Under Rs 50 – Analysis & Top Picks

Best Microcap Stocks Under Rs 50 – Analysis & Top Picks Best Microcap Stocks Under Rs 50: Emerging microcap stocks are like rockets which can give multi-bagger returns to their shareholders. They are small in size and any growth in profits happens on a low base,...

read more
Tata Chemicals Vs Aarti Industries

Tata Chemicals Vs Aarti Industries

Tata Chemicals Vs Aarti Industries – Financials, Future Plans & More Tata Chemicals Vs Aarti Industries: Chemical companies were the trend a few quarters ago with almost all of them giving multi-bagger returns. However, the margins and volume came down, and so did...

read more
टाटा मोटर्स 5,408 करोड़ रुपये के चौथी तिमाही के शुद्ध लाभ और 2 रुपये प्रति शेयर के Dividend

टाटा मोटर्स 5,408 करोड़ रुपये के चौथी तिमाही के शुद्ध लाभ और 2 रुपये प्रति शेयर के Dividend

Tata Motors Good News टाटा मोटर्स ने 12 मई को मार्च में समाप्त तिमाही में समेकित शुद्ध लाभ 5,407.79 करोड़ रुपये पर ला दिया, जबकि पिछले साल की समान तिमाही में 1,032.84 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था। परिचालन से राजस्व 1,05,932.35 करोड़ रुपये पर आ गया, जो पिछले वर्ष...

read more
Multibagger Stock – PNG – Petronet PNG Ltd

Multibagger Stock – PNG – Petronet PNG Ltd

NSE:PETRONET Petronet LNG Ltd is an Indian oil and gas company formed by the government of India to import liquefied natural gas and set up LNG terminals in the country. CEO: Akshay Kumar Singh (1 Feb 2021–) Founded: 2 April 1998 Headquarters: New Delhi Number of...

read more

Multibagger stocks for Investment

ResearchPower Finance Corporation LimitedNSE :PFC  - Feb 2022JK Tyre & Industries LtdNSE :JKTYRE  - Aug 2022 Rail Vikas Nigam LimitedNSE :RVNL  - Sep 2022 PETRONET LNG LIMITEDNSE :PETRONET  - October 2022Gujrat State Fertilizers & Chemicals Ltd.NSE :GSFC  -...

read more
आपकी वॉचलिस्ट में जोड़ने के लिए 100 रुपये से कम के शीर्ष (TOP ) स्टॉक

आपकी वॉचलिस्ट में जोड़ने के लिए 100 रुपये से कम के शीर्ष (TOP ) स्टॉक

Top Stocks Under Rs 100 एनएसई और बीएसई में 100 रुपये से कम के शेयरों के साथ बहुत सारे स्टॉक हैं। इसमें, हमने सूची में से चुनने के लिए शीर्ष स्टॉक प्रस्तुत किए हैं। Top Stocks Under Rs 100 #1 – SAIL जनवरी 1973 में एक महारत्न कंपनी, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया या सेल की...

read more
टाटा स्टील बनाम सेल – लाभप्रदता, भविष्य की संभावनाएं और बहुत कुछ!

टाटा स्टील बनाम सेल – लाभप्रदता, भविष्य की संभावनाएं और बहुत कुछ!

Tata Steel Vs SAIL: सेल की टैगलाइन है, "हर किसी के जीवन में थोड़ा सा सेल होता है।" शब्द स्टील उद्योग के बारे में उतना ही कहते हैं जितना वे सेल के बारे में कहते हैं। हमारे आस-पास की लगभग हर चीज में स्टील हो सकता है। यह उन घरों को बनाने के लिए जाता है जिनमें हम रहते...

read more
Yes Bank के आ सकते हैं अच्छे दिन, 10% हिस्सेदारी खरीदना चाहता है अमेरिका का Carlyle Group

Yes Bank के आ सकते हैं अच्छे दिन, 10% हिस्सेदारी खरीदना चाहता है अमेरिका का Carlyle Group

Yes Bank Stock- Yes/No ? पिछले कुछ सालों से दिक्कतों का सामना कर रहे प्राइवेट बैंक यस बैंक (Yes Bank) के लिए अच्छे दिन आने के संकेत मिल रहे हैं। यस बैंक में कई निवेशकों द्वारा हिस्सेदारी खरीदने की इच्छा जताई गई है। CNBC-TV18 ने सूत्रों के हवाले से बताया कि वाशिंगटन...

read more
टाटा मोटर्स 5,408 करोड़ रुपये के चौथी तिमाही के शुद्ध लाभ और 2 रुपये प्रति शेयर के Dividend

टाटा मोटर्स 5,408 करोड़ रुपये के चौथी तिमाही के शुद्ध लाभ और 2 रुपये प्रति शेयर के Dividend

Tata Motors Good News

टाटा मोटर्स ने 12 मई को मार्च में समाप्त तिमाही में समेकित शुद्ध लाभ 5,407.79 करोड़ रुपये पर ला दिया, जबकि पिछले साल की समान तिमाही में 1,032.84 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था।

परिचालन से राजस्व 1,05,932.35 करोड़ रुपये पर आ गया, जो पिछले वर्ष की इसी तिमाही में 78,439.06 करोड़ रुपये से 35.05 प्रतिशत अधिक था।

टाटा समूह के वाहन निर्माता के निदेशक मंडल ने 2 रुपये प्रति साधारण शेयर और रुपये के अंतिम लाभांश (Dividend) की सिफारिश की। डीवीआर (Tata Motor DVR) शेयरधारकों के लिए 2.1 प्रति शेयर, एजीएम में शेयरधारकों द्वारा अनुमोदन के अधीन।

वर्ष का अंत सभी ऑटोमोटिव वर्टिकल के साथ एक मजबूत नोट पर हुआ, जिसने कई सर्वकालिक उच्च उपलब्धियों के लिए मजबूत प्रदर्शन किया। प्रत्येक व्यवसाय द्वारा अपनाई गई विशिष्ट रणनीति एकसमान रूप से वितरित कर रही है, जिससे समग्र परिणामों में तेजी से सुधार हो रहा है। टाटा मोटर्स के समूह मुख्य वित्तीय अधिकारी पीबी बालाजी ने कहा, हम अपने घोषित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए नकदी प्रवाह सृजन के साथ विकास पर भरोसा रखते हैं।

तिमाही नतीजों को लेकर एक्सपर्ट क्या उम्मीद कर रहे हैं?

टाटा मोटर्स पर नजर रखने वाले ब्रोकरेज के अनुसार कंपनी का नेट प्रॉफिट 3100 रुपये और 3200 करोड़ रुपये के बीच रहा है। कंपनी को उम्मीद है कि जागुआर लैंड रोवर में बेहतर प्रदर्शन के साथ-साथ भारत में भी स्थिति पहले से बेहतर रहेगी। अगर कंपनी के नतीजे अनुमान के आस-पास रहे तो फिर शेयरों में तेजी देखने को मिल सकती है

टाटा टेक्नोलॉजी के आईपीओ से गहरा है कनेक्शन

18 साल बाद किसी टाटा ग्रुप की कंपनी का आईपीओ आने जा रहा है। कंपनी ने 9 मार्च 2023 को सेबी के पास DRHP पेपर्स दाखिल किया था। कंपनी आईपीओ के जरिए 9.571 करोड़ शेयर बेच सकती है। टाटा टेक्नोलॉजीज में बड़ी हिस्सेदारी टाटा मोटर्स की भी है। मौजूदा समय में इस कंपनी का 74.69 प्रतिशत हिस्सा टाटा मोटर्स के पास है। बता दें, बीते 2 महीने के दौरान टाटा मोटर्स के शेयरों की कीमतों में 20 प्रतिशत से अधिक की तेजी देखने को मिली है।

Multibagger Stock – PNG – Petronet PNG Ltd

Multibagger Stock – PNG – Petronet PNG Ltd

NSE:PETRONET

Petronet LNG Ltd is an Indian oil and gas company formed by the government of India to import liquefied natural gas and set up LNG terminals in the country.
CEO: Akshay Kumar Singh (1 Feb 2021–)
Founded: 2 April 1998
Headquarters: New Delhi
Number of employees: 519 (2022)
Revenue: 35,815 crores INR (US$4.7 billion, 2020)

Share Price – Rs.212
Face Value – Rs.10
Book Value – Rs.94.6
Market Cap- Rs 31,830 cr
Stock P/E – 9.45
Dividend Yield – 2.12 %

 

 

1. Petronet LNG Limited is a LPG/CNG/PNG/LNG Supplier PSU company currently traded at CMP Rs.212.

2. Petronet LNG Ltd is a joint venture company promoted by the Gas Authority of India Limited (GAIL), Oil and Natural Gas Corporation Limited (ONGC), Indian Oil Corporation Limited (IOC) and Bharat Petroleum Corporation Limited (BPCL).

3. Adani Petronet (Dahej) Port Pvt Ltd is a subsidiary company of Petronet LNG, Adani Petronet (Dahej) Port Pvt Ltd is also a joint venture company formed by Adani port and Petronet LNG

 

4. Petronet LNG Limited is a 10 rupee face value company.

5. Petronet LNG Limited is a part of the Nifty 500, Petronet LNG Limited traded at P/E ratio of 9.45 and the Nifty500 traded at P/E 22.63, So Company P/E is less than INDEX P/E, this is a sign of cheap valuation.

6. Year high of Petronet LNG Limited is 243.55 and the Year low is 190.25, Year high/low ratio is stable below  2.

7. Net sale per share of Petronet LNG Limited Ltd is 287.79 so in net sale per share term this stock is a value buy,

8. Book value of  Petronet LNG Limited is 94.18 and CMP is 212 

9. Base price ( 3 Years average price) of Petronet LNG Limited is 235.12 So CMP 212 is 9.6 % below from base price, so this is a good time to buy.

11. To download 3-year price data, base price, and graph;- Click here

12. Petronet is a dividend paying comapny see past dividend history here:-

SERIESFACE VALUEPURPOSEEX-DATERECORD DATEBOOK CLOSURE
START DATE
BOOK CLOSURE
END DATE
EQ10Dividend – Rs 4.50 Per Share04-Jul-202205-Jul-2022
EQ10Special Dividend – Rs 7 Per Share17-Nov-202119-Nov-2021
EQ10Annual General Meeting16-Sep-202118-Sep-202127-Sep-2021
EQ10Dividend – Rs 3.50 Per Share01-Jul-202102-Jul-2021
EQ10Interim Dividend – Rs 8 Per Share23-Nov-202024-Nov-2020

13.  I recommended buying it. Our target is 25% plus.

14. Promoters of Petronet LNG Ltd hold 50 % shares and no any share pledged by promoters. 

इन इंफ्रा स्टॉक्स में बने निवेश के मौके, Mutual Funds के फेवरेट

Base Price Calculation

Multibagger stocks for Investment

Research

Power Finance Corporation Limited
NSE :PFC  – Feb 2022

JK Tyre & Industries Ltd
NSE :JKTYRE  – Aug 2022 

Rail Vikas Nigam Limited
NSE :RVNL  – Sep 2022 

PETRONET LNG LIMITED
NSE :PETRONET  – October 2022

Gujrat State Fertilizers & Chemicals Ltd.
NSE :GSFC  – Apr 2023 

Wait for New Entry

Best Stocks Under Rs 50 – Analysis & Top Picks

Best Microcap Stocks Under Rs 50 – Analysis & Top Picks Best Microcap Stocks Under Rs 50: Emerging microcap stocks are like rockets which can give multi-bagger returns to their shareholders. They are small in size and any growth in profits happens on a low base,...

Tata Chemicals Vs Aarti Industries

Tata Chemicals Vs Aarti Industries

Tata Chemicals Vs Aarti Industries – Financials, Future Plans & More Tata Chemicals Vs Aarti Industries: Chemical companies were the trend a few quarters ago with almost all of them giving multi-bagger returns. However, the margins and volume came down, and so did...

टाटा मोटर्स 5,408 करोड़ रुपये के चौथी तिमाही के शुद्ध लाभ और 2 रुपये प्रति शेयर के Dividend

टाटा मोटर्स 5,408 करोड़ रुपये के चौथी तिमाही के शुद्ध लाभ और 2 रुपये प्रति शेयर के Dividend

Tata Motors Good News टाटा मोटर्स ने 12 मई को मार्च में समाप्त तिमाही में समेकित शुद्ध लाभ 5,407.79 करोड़ रुपये पर ला दिया, जबकि पिछले साल की समान तिमाही में 1,032.84 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था। परिचालन से राजस्व 1,05,932.35 करोड़ रुपये पर आ गया, जो पिछले वर्ष...

Multibagger Stock – PNG – Petronet PNG Ltd

Multibagger Stock – PNG – Petronet PNG Ltd

NSE:PETRONET Petronet LNG Ltd is an Indian oil and gas company formed by the government of India to import liquefied natural gas and set up LNG terminals in the country. CEO: Akshay Kumar Singh (1 Feb 2021–) Founded: 2 April 1998 Headquarters: New Delhi Number of...

Multibagger stocks for Investment

ResearchPower Finance Corporation LimitedNSE :PFC  - Feb 2022JK Tyre & Industries LtdNSE :JKTYRE  - Aug 2022 Rail Vikas Nigam LimitedNSE :RVNL  - Sep 2022 PETRONET LNG LIMITEDNSE :PETRONET  - October 2022Gujrat State Fertilizers & Chemicals Ltd.NSE :GSFC  -...

आपकी वॉचलिस्ट में जोड़ने के लिए 100 रुपये से कम के शीर्ष (TOP ) स्टॉक

आपकी वॉचलिस्ट में जोड़ने के लिए 100 रुपये से कम के शीर्ष (TOP ) स्टॉक

Top Stocks Under Rs 100 एनएसई और बीएसई में 100 रुपये से कम के शेयरों के साथ बहुत सारे स्टॉक हैं। इसमें, हमने सूची में से चुनने के लिए शीर्ष स्टॉक प्रस्तुत किए हैं। Top Stocks Under Rs 100 #1 – SAIL जनवरी 1973 में एक महारत्न कंपनी, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया या सेल की...

टाटा स्टील बनाम सेल – लाभप्रदता, भविष्य की संभावनाएं और बहुत कुछ!

टाटा स्टील बनाम सेल – लाभप्रदता, भविष्य की संभावनाएं और बहुत कुछ!

Tata Steel Vs SAIL: सेल की टैगलाइन है, "हर किसी के जीवन में थोड़ा सा सेल होता है।" शब्द स्टील उद्योग के बारे में उतना ही कहते हैं जितना वे सेल के बारे में कहते हैं। हमारे आस-पास की लगभग हर चीज में स्टील हो सकता है। यह उन घरों को बनाने के लिए जाता है जिनमें हम रहते...

Yes Bank के आ सकते हैं अच्छे दिन, 10% हिस्सेदारी खरीदना चाहता है अमेरिका का Carlyle Group

Yes Bank के आ सकते हैं अच्छे दिन, 10% हिस्सेदारी खरीदना चाहता है अमेरिका का Carlyle Group

Yes Bank Stock- Yes/No ? पिछले कुछ सालों से दिक्कतों का सामना कर रहे प्राइवेट बैंक यस बैंक (Yes Bank) के लिए अच्छे दिन आने के संकेत मिल रहे हैं। यस बैंक में कई निवेशकों द्वारा हिस्सेदारी खरीदने की इच्छा जताई गई है। CNBC-TV18 ने सूत्रों के हवाले से बताया कि वाशिंगटन...

यह स्मॉलकैप टायर कंपनी जल्द ही 200% अंतिम लाभांश, 800% विशेष लाभांश का भुगतान करेगी

यह स्मॉलकैप टायर कंपनी जल्द ही 200% अंतिम लाभांश, 800% विशेष लाभांश का भुगतान करेगी

Small Cap Tyre Company विशेष लाभांश आम तौर पर शेयरधारकों को नकद रूप में आते हैं और वे आम तौर पर सामान्य लाभांश से अधिक होते हैं। कंपनी द्वारा विशेष लाभांश का भुगतान किया जाता है और अक्सर किसी विशेष घटना से जुड़ा होता है। उन्हें अतिरिक्त लाभांश के रूप में भी जाना जाता...

आपकी वॉचलिस्ट में जोड़ने के लिए 100 रुपये से कम के शीर्ष (TOP ) स्टॉक

Stock Recommendation: 34% से अधिक अपसाइड पोटेंशियल वाले 3 फार्मा स्टॉक

Top Stocks Pick - 3 Pharma stocks to buy for 35% +upside कोविड -19 महामारी के दौरान उछाल वाले क्षेत्रों के अग्रदूत निफ्टी फार्मा में इस साल की शुरुआत से 12% से अधिक की गिरावट आई है। इसके सुधार के बाद बाजार के जानकारों का मानना ​​है कि फार्मा और हेल्थकेयर इंडस्ट्री एक...

Multibagger Share: 01 लाख को 9 करोड़ बनाने वाला स्‍टॉक

Multibagger Share: 01 लाख को 9 करोड़ बनाने वाला स्‍टॉक

न‍िवेशक हैरान, 1 लाख को 9 करोड़ बनाने वाला स्‍टॉक शेयर बाजार में न‍िवेश करना आसान है लेक‍िन यह न‍िवेश सही जगह हो और आपको अच्‍छा र‍िटर्न मिले यह जरूरी नहीं, इसके ल‍िए जरूरी है प्रॉपर र‍िसर्च की और सही समय पर शेयर को परखने की. कई पेनीस्‍टॉक और मल्टीबैगर स्‍टॉक...

एक्साइड इंडस्ट्रीज बनाम अमारा राजा बैटरी – लाभप्रदता, भविष्य की संभावना और अधिक

एक्साइड इंडस्ट्रीज बनाम अमारा राजा बैटरी – लाभप्रदता, भविष्य की संभावना और अधिक

Exide Industries vs Amara Raja Battery एक्साइड इंडस्ट्रीज बनाम अमारा राजा बैटरी: जब इलेक्ट्रिक वाहन हमारे पास से गुजरते हैं तो हम सिर घुमाते हुए देखते हैं। यह हमें आश्चर्यचकित करता है कि ये वाहन ऐसा कैसे कर पाते हैं, वह भी बिना किसी शोर या उत्सर्जन के। और जो चीज...

यह स्मॉलकैप टायर कंपनी जल्द ही 200% अंतिम लाभांश, 800% विशेष लाभांश का भुगतान करेगी

8 TOP स्टॉक्स 31% तक की तेजी के लिए खरीदें

Top Stocks Pick - 8 Top stocks to buy for 30% upside भारतीय बेंचमार्क सूचकांक सोमवार तक कमजोर पक्ष पर कारोबार कर रहे हैं। निफ्टी 50 फिलहाल 16,356-16,580 के दायरे में और सेंसेक्स फिलहाल 55,000-55,741 पर कारोबार कर रहा है। कमजोर बाजार में, ब्रोकरेज द्वारा 31% तक की तेजी...

यह स्मॉलकैप टायर कंपनी जल्द ही 200% अंतिम लाभांश, 800% विशेष लाभांश का भुगतान करेगी

RBI की बैठक पर निर्भर होगी शेयर बाजार की दिशा

RBI Meetings and Effect on Market 8th  June 2022 इस सप्ताह शेयर बाजारों की दिशा आरबीआइ की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक के नतीजों पर निर्भर करेगी। इसके अलावा वैश्विक रुझान, विदेशी कोषों और कच्चे तेल की कीमतें भी बाजार को प्रभावित करेंगी। हाल के दिनों में बाजार में तेजी...

यह स्मॉलकैप टायर कंपनी जल्द ही 200% अंतिम लाभांश, 800% विशेष लाभांश का भुगतान करेगी

प्राफिट का मंत्र- अच्छे स्टाक्स में निवेश करने के बाद भी नहीं हो रहा ग्रोथ?

अधिकांश लोग अच्छे स्टाक्स में निवेश करके कई साल तक होल्ड करने की सलाह देते हैं। लेकिन इन अच्छे स्टाक्स का चयन करना आसान नहीं है। इसके लिए कुछ बुनियादी सिद्धांत हैं और इसमें ग्रोथ प्रमुख है। हालांकि अच्छे निवेश के लिए काफी जांच-परख आवश्यक है।

आपकी वॉचलिस्ट में जोड़ने के लिए 100 रुपये से कम के शीर्ष (TOP ) स्टॉक

आपकी वॉचलिस्ट में जोड़ने के लिए 100 रुपये से कम के शीर्ष (TOP ) स्टॉक

Top Stocks Under Rs 100

एनएसई और बीएसई में 100 रुपये से कम के शेयरों के साथ बहुत सारे स्टॉक हैं। इसमें, हमने सूची में से चुनने के लिए शीर्ष स्टॉक प्रस्तुत किए हैं।

Top Stocks Under Rs 100 #1 – SAIL

जनवरी 1973 में एक महारत्न कंपनी, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया या सेल की स्थापना की गई थी। इससे पहले, सरकार के स्वामित्व में कई स्टील प्लांट काम कर रहे थे। इस्पात और खान मंत्रालय ने एक संगठन के तहत सभी कार्यों को एक साथ लाने के लिए सेल को एक मूल कंपनी के रूप में शामिल किया

आज की स्थिति में, कंपनी के पास लोहा और इस्पात निर्माण के लिए पांच एकीकृत संयंत्र हैं। यह तीन विशेष इस्पात संयंत्रों और लौह अयस्क, फ्लक्स और कोयले की खदानों का भी संचालन करता है।

इस्पात उत्पादक में सरकार की 65% हिस्सेदारी है। सेल उत्पादों की एक विस्तृत विविधता का निर्माण करता है: स्ट्रक्चरल, टीएमटी बार, गैल्वनाइज्ड उत्पाद, वायर रॉड, प्लेट, रेलवे उत्पाद, व्हील और एक्सल, हॉट एंड कोल्ड रोल्ड उत्पाद, पाइप, और बहुत कुछ।

Top Stocks Under Rs 100 - SAIL logo
Share Price (Rs.)80.8Market Cap (Rs. Cr.)33,500
EPS (Rs.)22.2Book Value (Rs.)131
Stock P/E3.5Price to Book0.6
Face Value (Rs.)10Dividend Yield10.8%
ROCE24.3%ROE25.1%
Debt to Equity0.25Promoter Holding65%

भविष्य के संयंत्रों के लिए, स्टील पीएसयू की कैपेक्स की योजना 2030 तक अपनी क्षमता को लगभग 19 मिलियन टन के वर्तमान स्तर से बढ़ाकर 50 मिलियन टन करने की है। यह 2017 की राष्ट्रीय इस्पात नीति के अनुरूप है, जिसमें अनुमान लगाया गया है कि भारत की इस्पात उत्पादन क्षमता 2030 तक 300 मिलियन टन तक पहुंच जाएगी।

Top Stocks Under Rs 100 #2 – IOC

इस सूची में एक अन्य महारत्न कंपनी, इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IOCL) एक राज्य के स्वामित्व वाली तेल कंपनी है, जिसके हित पूरे हाइड्रोकार्बन मूल्य श्रृंखला में फैले हुए हैं। इसके संचालन के दायरे में रिफाइनिंग, पाइपलाइन परिवहन और विपणन, कच्चे तेल और गैस की खोज और उत्पादन, पेट्रोकेमिकल्स, गैस विपणन, वैकल्पिक ऊर्जा स्रोत और डाउनस्ट्रीम संचालन का वैश्वीकरण शामिल हैं।

Top Stocks Under Rs 100 - Indian Oil Logo
Share Price (Rs.)71.1Market Cap (Rs. Cr.)100,000
EPS (Rs.)13.2Book Value (Rs.)94.6
Stock P/E5.1Price to Book0.8
Face Value (Rs.)10Dividend Yield11.8%
ROCE15.6%ROE20.4%
Debt to Equity0.99Promoter Holding51.5%

15,000 किमी से अधिक पाइपलाइनों के क्रॉस-कंट्री नेटवर्क के साथ पूरे भारत में इसके 34,000 से अधिक ईंधन स्टेशन हैं। इसकी लगभग 80.55 एमएमटीपीए की रिफाइनिंग क्षमता स्थापित है। देश की शोधन क्षमता का 32%।

आईओसीएल फॉर्च्यून 500 सूची में भारत का सर्वोच्च रैंक वाला ऊर्जा पीएसयू है। यह 142 वें स्थान पर है। आईओसीएल ने रुपये का परिचालन राजस्व दर्ज किया। 7,28,460 करोड़ और मुनाफा रु। FY22 के दौरान 24,184 करोड़।

फिनग्रैड इन-कंटेंट बैनर यह 11.8% की उच्च-लाभांश उपज के साथ एक लाभांश स्टॉक है। स्टॉक वर्तमान में 5.05 के आकर्षक पी/ई अनुपात पर कारोबार कर रहा है, जिससे तेल कंपनी को रुपये का बाजार पूंजीकरण मिल रहा है। 100,000 करोड़।

Top Stocks Under Rs 100 #3 – NCC

एनसीसी लिमिटेड एक स्मॉल-कैप निर्माण कंपनी है जो औद्योगिक और वाणिज्यिक भवनों, सड़कों, जल आपूर्ति, और पर्यावरण परियोजनाओं, खनन, मेट्रो परियोजनाओं, बिजली पारेषण लाइनों, और बहुत कुछ के विकास में लगी हुई है।

Top Stocks Under Rs 100 - NCC Ltd Logo

Share Price (Rs.)72.1Market Cap (Rs. Cr.)4,500
EPS (Rs.)11.6Book Value (Rs.)91.4
Stock P/E11.6Price to Book0.8
Face Value (Rs.)2.0Dividend Yield2.8%
ROCE12.9%ROE6.2%
Debt to Equity0.2Promoter Holding22%

एनसीसी हैदराबाद, तेलंगाना से बाहर स्थित है, और दिवंगत निवेशक राकेश झुनझुनवाला की पसंद में से एक है। हालिया फाइलिंग के अनुसार, निर्माण कंपनी में उनकी 12.6 फीसदी हिस्सेदारी थी।

NCC की स्थापना 1978 में एक पार्टनरशिप फर्म के रूप में हुई थी। संस्थापकों ने बाद में इसे 1990 में एक सार्वजनिक कंपनी में परिवर्तित कर दिया। आज तक तेजी से आगे बढ़ते हुए, एनसीसी की पूरे भारत में उपस्थिति है और 13 भारतीय शहरों में कार्यालय हैं।

यह 5,300 से अधिक व्यक्तियों को रोजगार देता है और आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे, हैदराबाद ग्रोथ कॉरिडोर, और अधिक जैसी हाई-प्रोफाइल परियोजनाओं को निष्पादित किया है।

30 जून, 2022 तक, डेवलपर के पास रुपये की ऑर्डर बुक थी। 40,616 करोड़ जिसमें भवन खंड 62% है।

एनसीसी ईपीसी और आइटम दर अनुबंधों की अपनी मुख्य योग्यता पर ध्यान केंद्रित करके एक परिसंपत्ति-हल्का व्यापार मॉडल रखता है। इसके अलावा, कंपनी ने अपने मध्य-पूर्व व्यवसाय से बाहर निकल कर अपनी परिचालन दक्षता में सुधार करने के लिए अपने कर्ज को कम किया।

Top Stocks Under Rs 100 #4 – HFCL

HFCL Logo
Share Price (Rs.)74.0Market Cap (Rs. Cr.)10,200
EPS (Rs.)2.05Book Value (Rs.)20.3
Stock P/E36.3Price to Book3.6
Face Value (Rs.)1.0Dividend Yield0.2%
ROCE19.2%ROE13.5%
Debt to Equity0.3Promoter Holding39.2%

 

Top Stocks Under Rs 100 #5 – GAIL

GAIL Logo
Share Price (Rs.)90.7Market Cap (Rs. Cr.)60,500
EPS (Rs.)20.1Book Value (Rs.)96
Stock P/E4.5Price to Book0.94
Face Value (Rs.)10.0Dividend Yield4.9%
ROCE23.30%ROE20.9%
Debt to Equity0.14Promoter Holding51.9%

List of Top Stocks Under Rs 100

हमने 100 रुपये से कम के शीर्ष शेयरों को कवर किया है। नीचे दी गई तालिका में ऐसी और कंपनियों की सूची है, जिनके शेयर की कीमत रुपये से नीचे है।

Yes Bank के आ सकते हैं अच्छे दिन, 10% हिस्सेदारी खरीदना चाहता है अमेरिका का Carlyle Group

Yes Bank के आ सकते हैं अच्छे दिन, 10% हिस्सेदारी खरीदना चाहता है अमेरिका का Carlyle Group

Yes Bank Stock- Yes/No ?

पिछले कुछ सालों से दिक्कतों का सामना कर रहे प्राइवेट बैंक यस बैंक (Yes Bank) के लिए अच्छे दिन आने के संकेत मिल रहे हैं। यस बैंक में कई निवेशकों द्वारा हिस्सेदारी खरीदने की इच्छा जताई गई है। CNBC-TV18 ने सूत्रों के हवाले से बताया कि वाशिंगटन स्थित निजी इक्विटी फर्म कार्लाइल ग्रुप (Carlyle Group) कन्वर्टिब डेट रूट (convertible debt route) के जरिये यस बैंक में 10 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करना चाहता है।

इस प्राइवेट इक्विटी कंपनी को convertible debt route पर हिस्सेदारी देने पर विचार किया जा सकता है। इसके पीछे की एक वजह ये भी है कि भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India (SBI) की मार्च 2023 तक यस बैंक में 26 प्रतिशत हिस्सेदारी होनी चाहिए।

चैनल के मुताबिक कार्लाइल ग्रुप एफपीआई (FPI) की बजाय प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (foreign direct investment (FDI) के जरिए निवेश करने की योजना बना रहा है। विशेष रूप से, FEMA (Foreign Exchange Management Act) के नियमों में FDI के रूप में पात्र होने के लिए न्यूनतम 10 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने की आवश्यकता होती है।

जुलाई के मध्य में नए बोर्ड की बैठक होने पर बैंक द्वारा इस मामले को चर्चा के लिए उठाए जाने की उम्मीद है।

गौरतलब है कि नियमों के अनुसार किसी बैंक में 4.9 प्रतिशत हिस्सेदारी रखने के लिए विचाराधीन कंपनी को भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India (RBI) की मंजूरी लेनी होती है। इसके अलावा RBI किसी भी बैंक में व्यक्तिगत हिस्सेदारी को 10 प्रतिशत और बैंकों में वित्तीय संस्थाओं की हिस्सेदारी को 15 प्रतिशत पर सीमित करता है।

इस संबंध आई हुई पिछली रिपोर्टों में कहा गया था कि Carlyle यस बैंक में 3,750-4,500 करोड़ रुपये (50-60 करोड़ डॉलर) के निवेश पर विचार कर रहा है। रिपोर्ट्स उस समय सामने आई थीं जब यस बैंक प्राइवेट इक्विटी निवेशकों के साथ अपनी बैलेंस शीट को मजबूत करने के लिए 7,500-11,250 करोड़ रुपये (1-1.5 अरब डॉलर) जुटाने के लिए बातचीत कर रहा था। जबकि दो साल बाद इसे SBI के संरक्षण के तहत रखा गया था।

सीए रोवर होल्डिंग्स (CA Rover Holdings), जो कि Carlyle ग्रुप की एक कंपनी है। इसके पास दिसंबर 2021 की तिमाही में 2.920 करोड़ शेयर या एसबीआई कार्ड्स (SBI Cards) में 3.09 प्रतिशत हिस्सेदारी थी। ये कंपनी एक ब्लॉक ट्रेड के जरिये फर्म में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेचना चाह रही थी। Carlyle Group एसबीआई कार्ड्स एंड पेमेंट्स सर्विसेज लिमिटेड में अपनी पूरी हिस्सेदारी एक ब्लॉक डील के जरिए 2,558 करोड़ रुपये में बेचेगा।

डिस्क्लेमर: (यहां मुहैया जानकारी सिर्फ सूचना हेतु दी जा रही है। यहां बताना जरूरी है कि मार्केट में निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। निवेशक के तौर पर पैसा लगाने से पहले हमेशा एक्सपर्ट से सलाह लें।

प्राफिट का मंत्र- अच्छे स्टाक्स में निवेश करने के बाद भी नहीं हो रहा ग्रोथ?

अधिकांश लोग अच्छे स्टाक्स में निवेश करके कई साल तक होल्ड करने की सलाह देते हैं। लेकिन इन अच्छे स्टाक्स का चयन करना आसान नहीं है। इसके लिए कुछ बुनियादी सिद्धांत हैं और इसमें ग्रोथ प्रमुख है। हालांकि अच्छे निवेश के लिए काफी जांच-परख आवश्यक है।