घर के मंदिर में हमेशा रखे एक पात्र मे जल और उस जल का क्या करे ,आईये जाने

घर के मंदिर में हमेशा रखे एक पात्र मे जल और उस जल का क्या करे ,आईये जाने

प्रदोष व्रत की महिमा और प्रदोष व्रत करने का आसान तरीका

प्रदोष व्रत की महिमा और प्रदोष व्रत करने का आसान तरीका

रवि प्रदोष व्रत 2022: आषाढ़ का पहला प्रदोष व्रत 26 जून को, इन उपायों से करें, भगवान शिव को प्रसन्न

रवि प्रदोष व्रत – 

हिंदू पंचांग के अनुसार हर महीने दो प्रदोष व्रत पड़ते हैं। भगवान भोलेनाथ को समर्पित यह व्रत कृष्ण और शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि को रखा जाता है। इस वर्ष आषाढ़ मास का पहला प्रदोष व्रत 26 जून, रविवार को पड़ रहा है।

आषाढ़ा प्रदोष व्रत 2022 उपाय –

हिंदू धर्म में प्रदोष व्रत भगवान शिव को समर्पित माना जाता है। हर महीने के कृष्ण और शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि को प्रदोष व्रत पड़ता है। इस साल आषाढ़ मास का पहला प्रदोष व्रत 26 जून को रखा जाएगा और इस दिन रविवार होने के कारण इसे रवि प्रदोष व्रत कहा जाएगा। मान्यता है कि विधि-विधान और मंत्रों से भगवान शंकर की पूजा करने वाले तथा प्रदोष व्रत रखने वाले व्यक्ति को जीवन में सुख-शांति और समृद्धि का आशीर्वाद प्राप्त होता है और व्यक्ति की हर इच्छा पूर्ण होती है। अलग-अलग वार पर पड़ने के कारण भी इस व्रत का महत्व भी अलग होता है। इस बार का प्रदोष व्रत रविवार को पड़ रहा है। जहां प्रदोष व्रत में भगवान भोलेनाथ की पूजा की जाती है, वहीं रविवार का दिन सूर्य देव को समर्पित माना जाता है। तो आइए जानते हैं ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मनोकामना पूर्ति के लिए रवि प्रदोष व्रत के दिन कौन से उपाय करने चाहिए…

मनचाहा जीवनसाथी पाने के लिए
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार दांपत्य जीवन में मधुरता बनाए रखने और मनचाहा जीवनसाथी पाने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति को रवि प्रदोष व्रत के दिन दूध में फूल और थोड़ा सा केसर डालकर भगवान शंकर पर अर्पित करना चाहिए।

कोर्ट-कचहरी के मामलों में जीत के लिए
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जमीन-जायदाद से जुड़े मामलों के चक्कर में अगर किसी व्यक्ति को कोर्ट-कचहरी के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं तो रवि प्रदोष व्रत वाले दिन जल में चावल डालकर भगवान शिव पर अर्पित करना शुभ माना जाता है। इससे आपकी समस्या का जल्द समाधान होने की मान्यता है।

भय मुक्ति के लिए
अगर आपको मन में कोई अज्ञात भय सताता रहता है और मन अक्सर शांत रहता है तो रवि प्रदोष वाले दिन रुद्राक्ष अथवा चंदन की माला से ‘ओम नमः शिवाय’ मंत्र का 108 बार जाप करने से सारे भय से मुक्ति मिलने की मान्यता है। साथ ही ज्योतिष शास्त्र के अनुसार भगवान भोलेनाथ के इस प्रभावशाली मंत्र के जाप से जीवन में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

सुख-समृद्धि की प्राप्ति के लिए
रवि प्रदोष व्रत वाले दिन जौ के आटे को भगवान भोलेनाथ के चरणों में स्पर्श करवाकर इस आटे की रोटियां बना लें। फिर इन रोटियों को बैल या किसी गाय के बछड़े को खिला देना चाहिए। मान्यता है कि इस उपाय द्वारा हर परिवार में सुख-शांति और समृद्धि का वास होता है।

 

मोटापा कम करने का आसान उपाय -इस Magical Drink से

मोटापा कम करने का आसान उपाय -इस Magical Drink से

क्या आप भी मोटापे से परेशान है?

मोटापा कम कर सकता है ये मैजिकल ड्रिंक, आईये जाने इस्तेमाल करने का सही तरीका –

आपका बढ़ा हुआ वजन बीमारियों को तो न्योता देता ही है बल्कि पर्सनालिटी को भी ख़राब करता है जिससे हमारे अंदर आत्मविश्वास की कमी हो जाती है। ऐसे में लोग अपने मोटापे को कम करने के लिए तरह – तरह के उपाय ढूंढ़ने लगते है।

ऐसे में डॉक्टर ये सलाह देते है की वजन कम करने के लिए पानी पीना फायदेमंद होता है। नियमित रूप से पानी पिने से शरीर हाइड्रेटेड रहता है,जिसकी वजह से आप कई तरह की परेशानियों से बचे रहेंगे।

अगर आप पानी में कुछ चीजों को डाल कर पिएंगे तो ये आपका वजन तेजी से घटाने में मददगार साबित होंगे।

आईये इस मैजिकल ड्रिंक को कैसे बनाते है जानते है:-

सामग्री :-

1 खीरा
1 निम्बू
1 छोटा टुकड़ा अदरक
पुदीने की कुछ पतिया

विधि :-

सबसे पहले आप खीरे को अच्छी तरह धोकर साफ़ कर लीजिये और छिलके समेत ही उसको छोटे – छोटे टुकड़ो में काट लीजिये। अदरक को भी छीलकर,धो कर छोटे टुकड़े कर लीजिये। पुदीने की पतियों को भी धो कर मिक्सर में डाल दे, इसमें खीरा और अदरक डाल कर मिक्सर में पीस लीजिये। अब इस लिक्विड को छान ले। इस लिक्विड में 5 गिलास पानी और मिलाये और एक पूरे निम्बू का रस भी इसमें मिला लीजिये। अब आपको क्या करना है जब भी आपको प्यास लगे आपको नार्मल पानी की जगह इस पानी का इस्तेमाल करना है।

इससे आपका मेटाबोलिज्म ठीक रहेगा और बेवजह खाने पर कंट्रोल होगा जिससे वजन कम होगा।

इस ड्रिंक से आपके अंदर ताजगी आएगी और आपको व्यायाम करने में आलस्य नहीं आएगा। इस मैजिकल ड्रिंक को अपने रूटीन में शामिल कीजिये आपका वजन बहुत जल्द नार्मल हो जायेगा।

बाथरूम से जिद्दी दाग और फफूंदी हटाने के उपाय

बाथरूम में लगी फफूंदी को हटाने के उपाए

बाथरूम को अगर समय -समय पर और सही तरीके से साफ़ न किया जाये तो फफूंदी की समस्या होने लगती है। जिसके चलते बाथरूम गन्दा लगने लगता है और फिसलने का भी डर रहता है। अगर आप फफूंदी को साफ़ करने के लिए हर तरह उपाय आजमा चुकी है और कोई असर नहीं दिख रहा है तो सफ़ेद सिरका का इस्तेमाल करके इस समस्या से छुटकारा पा सकती है।
अगर आप जानना चाहती है की बाथरूम में लगी फफूंदी को कैसे हटाया जाये तो इस लेख को आखिर तक जरूर पढ़े –

सफेद सिरका का करें इस्तेमाल

अक्सर यह देखा गया है कि बाथरूम के कोनों या टाइल्स पर फफूंदी जमने लगती है। जिसके कई कारण होते हैं। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए आपको सफेद सिरका का इस्तेमाल करना चाहिए। मार्केट में आपको आसानी से सिरका मिल जाएगा। साथ ही इसके लिए आपको एक स्प्रे बोतल चाहिए होगी, जिसमें आपको इसे डालना होगा। फिर सिरके को फफूंदी वाली जगह पर छिड़काव करके लगभग 15 मिनट के लिए छोड़ दीजिए। (चुटकियों में साफ हो जाएगा बाथरूम) 15 मिनट बाद स्क्रबर की मदद से रगड़कर आसानी से साफ कर लीजिए। साफ करने के बाद पानी से भी साफ कर लीजिए।

बेकिंग सोडा का करे इस्तेमाल

अक्सर फफूंद के दाग बाथरूम के टाइल्स पर लग जाते हैं। जिन्हें साफ करने में काफी मेहनत लगती है। लेकिन आप इसके लिए घरेलू उपाय अपना सकती हैं। इसके लिए आपको बेकिंग सोडा चाहिए होगा। एक बाउल में 3 भाग बेकिंग सोडा और 1 भाग पानी मिलाएं। एक गाढ़ा पेस्ट बना लें। अब फफूंदी वाली जगह पर यह पेस्ट लगाएं। इससे फफूंद के दाग आसानी से हट जाएंगे। इसके बाद दाग वाली जगह पर दोबारा सिरका छिड़कें। फिर एक गीले कपड़े से अच्छे से साफ़ कर लें। फिर पानी से बाथरूम को धो लें।
अगर आप समय – समय पर बाथरूम को साफ़ करती रहेंगी और नमी नहीं रहने देगी तो जिद्दी दाग और फफूंदी जैसी समस्याए पैदा ही नहीं होगी।

आप बाथरूम की सफाई करते समय ध्यान रखे की आपने हाथो में दस्ताने (Gloves) जरूर पहने हो जिससे आपके हाथ कटने – फटने से बचे रहे।

धन सम्बन्धी परेशानियों से छुटकारा पाने के उपाए

इन उपायों से धन -हानि की समस्या से मिलेगा छुटकारा,बरसेगी गणपति बप्पा की अपार कृपा

भगवान गणेश प्रथम पूजनीय देव है। किसी भी शुभ काम को करने से पहले भगवान् श्री गणेश की पूजा अर्चना की जाती है।बुधवार का दिन भगवान गणेश को समर्पित होता है। इस दिन विधि – विधान से भगवान् गणेश जी की पूजा-अर्चना की जाती है।
भगवान् श्री गणेश की कृपा से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है। उनकी कृपा से आर्थिक समस्याओ से भी छुटकारा मिल जाता है। आईये जानते है भगवान् गणेश को प्रसन्न करने के लिए क्या करना चाहिए

 

भगवान् गणेश को दूर्वा अर्पित करे
भगवान् गणेश को दूर्वा घास बहुत प्रिय है। उन्हें प्रसन्न करने के लिए उन्हें दूर्वा घास जरूर अर्पित करना चाहिए। जो भक्त भगवान् को दूर्वा अर्पित करते है उनकी सभी मनोकामनाएं गणेश जी पूरी करते है। आप रोजाना भी भगवान् श्री गणेश को दूर्वा अर्पित कर सकते है। अगर आपके कार्यो में बार – बार विघ्न आ रहा है तो भगवान् गणेश जी को दूर्वा जरूर अर्पित करे।
भगवान् गणेश को सिंदूर लगाए
भगवन गणेश को प्रसन्न करने के लिए उन्हें सिंदूर भी लगाना चाहिए। सिंदूर लगाने से गणपति बप्पा प्रसन्न होते है। आप रोजाना भी भगवान् गणेश जी को सिंदू
र लगा सकते है।
भगवान् गणेश को भोग लगाए
भगवान् गणेश को लड्डू और मोदक काफी प्रिय है। संकष्टी चतुर्थी के दिन भगवान् गणेश को लड्डू और मोदक का भोग जरूर लगाए। भगवान् को भोग लगाने के बाद प्रसाद के रूप मे उनका सेवन जरूर करे।