Mutual Funds Client KYC के लिए परेशान क्यों हो ? NOW DO IT ONLINE

अगर आप म्यूच्यूअल फंड्स डिस्ट्रीब्यूटर है और आपको अपने क्लाइंट की kyc घर बैठे करना है तो आप ये वीडियो जरूर देखे और अपने दोस्तों में भी शेयर करे

E-KYC Decalation Form

 

बिजनेस अपॉरटूनिटी

अगर आप म्यूच्यूअल फण्ड के साथ हेल्थ इन्शुरन्स, लाइफ इन्शुरन्स, शेयर ट्रेडिंग इत्यादि का भी काम घर बैठे करना चाहते है तो जरूर लिखे
आप केवल एक काम करते है तो आपके क्लाइंट्स आपके पास नहीं रह सकते क्योकि उनको को सब कुछ चाहिए

तो आप सिर्फ एक काम क्यों ?

बनिए आज का स्मार्ट डिस्ट्रीब्यूटर और अपना बिजनेस बढ़ाये

शेयर मार्किट में कैसे इन्वेस्ट करे

जुड़े अभी
लिखे support@agindiaonline.com

 

वरिष्ठ नागरिकों निवेशकों के लिए FLOATING RATE FUNDS IS BEST OPTIONS

फ्लोटिंग रेट फंड लंबी अवधि के लिए वरिष्ठ नागरिकों निवेशकों के लिए सबसे अच्छा विकल्प में से एक है

देखते हैं कैसे

5 मिनट में भारत का नंबर 1 डीमैट खाता खोलने के लिए यहां क्लिक करें

फ्लोटिंग रेट फंड क्या है?
एक फ्लोटिंग रेट फंड एक फंड है जो एक चर या फ्लोटिंग ब्याज दर का भुगतान करने वाले वित्तीय साधनों में निवेश करता है। एक फ्लोटिंग रेट फंड बांड और ऋण उपकरणों में निवेश करता है जिनके ब्याज भुगतान अंतर्निहित ब्याज दर स्तर के साथ घटते हैं। आमतौर पर, एक निश्चित दर निवेश एक स्थिर, उम्मीद के मुताबिक आय होगी । हालांकि, ब्याज दरों में वृद्धि के रूप में, निश्चित दर निवेश बाजार से पीछे है क्योंकि उनका रिटर्न निश्चित रहता है।

फ्लोटिंग रेट फंड्स का उद्देश्य निवेशकों को बढ़ती दर के माहौल में लचीली ब्याज आय प्रदान करना है। नतीजतन, फ्लोटिंग रेट फंड्स को लोकप्रियता मिली है क्योंकि निवेशक अपने पोर्टफोलियो की उपज को बढ़ावा देने के लिए तत्पर हैं।

मुख्य टेकअवे

1-एक फ्लोटिंग रेट फंड एक फंड है जो एक चर या फ्लोटिंग ब्याज दर का भुगतान करने वाले वित्तीय साधनों में निवेश करता है। एक फ्लोटिंग रेट फंड बांड और ऋण उपकरणों में निवेश करता है जिनके ब्याज भुगतान अंतर्निहित ब्याज दर स्तर के साथ घटते हैं।
2-फ्लोटिंग रेट फंड्स में कॉर्पोरेट बॉन्ड के साथ-साथ बैंकों द्वारा कंपनियों को दिए गए लोन को भी शामिल किया जा सकता है । इन ऋणों को कभी-कभी फिर से पैक किया जाता है और निवेशकों के लिए एक फंड में शामिल किया जाता है। हालांकि, लोन डिफॉल्ट रिस्क ले सकते हैं ।
3-हालांकि फ्लोटिंग फंड बढ़ती दर के माहौल में पैदावार की पेशकश के बाद से वे बढ़ती दरों के साथ उतार चढ़ाव, निवेशकों को धन में निवेश और निधि होल्डिंग्स अनुसंधान के जोखिम तौलना चाहिए ।

कुछ बेहतरीन फ्लोटिंग रेट फंड

लगातार 8% और उससे अधिक रिटर्न निवेशकों के लिए अच्छा है और मेरी समझ के अनुसार वरिष्ठ नागरिकों के लिए इसका बहुत अच्छा फंड है । हमें फ्लोटिंग दर में अपने ऋण कोषों को निश्चित रूप से पार्क करना चाहिए

1-Aditya Birla Sun Life Floating Rate Fund – Regular Plan – Growth

Fund Performance(As On Aug 24, 2020)

PeriodAbsolute Returns(%)CAGR(%)Benchmark ReturnsSIP Returns
1 Week-0.09-4.550.14N.A
1 Month0.22.330.54N.A
3 Months2.349.081.67.84
6 Months4.669.353.2410.09
1 Year8.728.726.679.27
3 Years26.068.027.48.69
5 Years49.318.348.098.34
10 Years1348.877.568.67
Inception158.718.67N.AN.A

Sector wise Asset Allocation(as on Jul 31, 20)

SectorAllocationValue
Financial61.75%4010.56
Sovereign11.13%723.32
Others10.86%705.59
Energy6.74%437.73
Services6.21%403.65
Diversified3.08%200.24
Engineering0.27%17.59
 100.04%6498.68

2-Nippon India Floating Rate Fund-Growth

Fund Performance(As On Aug 24, 2020)

PeriodAbsolute Returns(%)CAGR(%)Benchmark ReturnsSIP Returns
1 Week-0.29-14.970.14N.A
1 Month-0.21-2.470.54N.A
3 Months2.7410.621.67.44
6 Months5.6211.283.2411.78
1 Year10.3710.376.6711.3
3 Years25.227.787.49.4
5 Years47.258.048.098.42
10 Years125.838.487.568.42
Inception234.447.84N.AN.A

Sector wise Asset Allocation(as on Jul 31, 20)

SectorAllocationValue
Financial45.35%6151.53
Sovereign24.48%3322.30
Others14.89%2020.79
Engineering6.57%892.35
Energy5.59%759.80
Diversified2.71%367.66
Communication0.39%53.55
 99.98%13567.99

आप सभी को संप्रभु गोल्ड बांड (SOVEREIGN GOLD BONDS के बारे में जानने की जरूरत है

आरबीआई द्वारा जारी सॉवरेन गोल्ड बांड या एसजीबी (SGB) की कीमत सोने की कीमत के संबंध में होती है और एक निश्चित ब्याज दर प्रदान करते हैं। परिपक्वता के समय, बांड मालिक को सोने की वर्तमान कीमत के अनुरूप बांड का मूल्य प्राप्त होता है। गोल्ड की मांग को भौतिक परिसंपत्ति के रूप में वित्तीय बचत में बदलने के लिए गोल्ड बांड शुरू किए गए हैं।

कौन निवेश कर सकता है?

गोल्ड बांड व्यक्तियों, एचयूएफ, ट्रस्ट, विश्वविद्यालयों और धर्मार्थ संस्थानों सहित निवासी भारतीय संस्थाओं को बिक्री के लिए प्रतिबंधित हैं। गोल्ड बांड में निवेश का ऑनलाइन तरीका निवेशकों की सभी श्रेणियों के लिए उपलब्ध नहीं हो सकता है क्योंकि यह केवल निवासी व्यक्तियों तक ही सीमित है।

OPEN BEST SHARE TRADING ACCOUNT ZERODHA IN 10 MINUTES

शर्तों :-

इस निवेश के लिए न्यूनतम आवेदन आकार सोने के 1 ग्राम के बराबर है और एक व्यक्ति/एचयूएफ आवेदक के लिए अधिकतम 4 किलो है । बांड में आठ साल की परिपक्वता अवधि होती है और पांचवें साल से बाहर निकलने का विकल्प भी उपलब्ध होता है।

निवेश कैसे करें :

बैंक शाखाओं, डाकघरों, स्टॉक एक्सचेंजों या एसएचसीआईएल (स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड) के माध्यम से आवेदन पत्र भरकर निवेश के लिए आवेदन किया जा सकता है। ऑनलाइन आवेदन अनुसूचित बैंकों की वेबसाइटों के माध्यम से किया जा सकता है। पैन यहां एक अनिवार्य दस्तावेज है। कोई भी बांड की भौतिक डिलीवरी या ऑनलाइन किसी के डीमैट खाते में लेने के लिए चुन सकता है।

मोचन (Redemption):-

निवेशक को एक महीने पहले सूचित किया जाएगा और रिवीजन राशि बताए गए खाते में जमा की जाएगी। मोचन मूल्य भारत बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन द्वारा प्रकाशित पुनर्भुगतान की तारीख से पिछले तीन कार्य दिवसों की 999 शुद्धता के सोने के समापन मूल्य के सरल औसत पर आधारित होगा।

कर निहितार्थ ( Tax Implications) :

गोल्ड बांड पर मिलने वाला ब्याज आयकर अधिनियम, 1961 के प्रावधानों के अनुसार कर के अधीन होगा। हालांकि किसी व्यक्ति को रिडेम्पशन पर होने वाले कैपिटल गेन टैक्स में छूट दी गई है।

नोट करने के लिए अंक :

> आरबीआई ऑनलाइन आवेदकों के लिए छूट प्रदान करता है।
> यह निवेश नाबालिग के नाम पर कानूनी अभिभावक कर सकते हैं।

————————————————————————————————RBI/2020-2021/52
IDMD.CDD.No.730/14.04.050/2020-21

October 9, 2020

The Chairman& Managing Director
All Scheduled Commercial Banks,
(Excluding RRBs)
Designated Post Offices
Stock Holding Corporation of India Ltd.(SHCIL)
National Stock Exchange of India Ltd. & Bombay Stock Exchange Ltd.

Dear Sir/Madam,

Sovereign Gold Bond Scheme (SGB) 2020-21- Series VII, VIII, IX, X, XI, XII

Government of India has vide its Notification No F.No4.(4)-B (W&M)/2020 dated October 9, 2020 has announced the Sovereign Gold Bond Scheme 2020-21, Series VII, VIII, IX, X. XI and XII. Under the scheme there will be a distinct series (starting from Series VII) for every tranche. The terms and conditions of the issuance of the Bonds shall be as per the above notification.

2. Date of Issue

The date of issuances shall be as per the details given in the calendar below

Sr. No.TrancheDate of SubscriptionDate of Issuance
1.2020-21 Series VIIOctober 12 – 16, 2020October 20, 2020
2.2020-21 Series VIIINovember 09 – 13, 2020November 18, 2020
3.2020-21 Series IXDecember 28 2020 – January 01, 2021January 05, 2021
4.2020-21 Series XJanuary 11-15, 2021January 19, 2021
5.2020-21 Series XIFebruary 01- 05, 2021February 09, 2021
6.2020-21 Series XIIMarch 01- 05, 2021March 09, 2021

3. Period of subscription.

The Subscription of the Gold Bonds under this Scheme shall be open (Monday to Friday) on the dates specified above, provided that the Central Government may, with prior notice, close the Scheme at any time before the period specified above.

4. Application

Subscription for the Bonds may be made in the prescribed application form (Form A) or in any other form as near as thereto, stating clearly the grams (in units) of gold and the full name and address of the applicant. Every application must be accompanied by the ‘PAN details’ issued by the Income Tax Department to the investor(s). Scheduled Commercial Banks (excluding RRBs, Small Finance Banks and Payment Banks)designated Post Offices (as may be notified), Stock Holding Corporation of India Ltd (SHCIL) and recognized stock exchanges viz., National Stock Exchange of India Limited and Bombay Stock Exchange Ltd. are authorized to receive applications for the Bonds either directly or through agents and render all services to the customers The Receiving Office shall issue an acknowledgment receipt in Form B’ to the applicant.

5. In addition to receipt of application, the Receiving Offices are also entrusted with the responsibility of providing service to the investors of the SGB and are required to be guided by rules and regulations issued by RBI in this regard from time to time. With a view to facilitate availability of all current operative instructions regarding servicing of these bonds at one place, RBI has issued consolidated procedural/operational guidelines vide circular IDMD.CDD.2730/14.04.050/2019-20, dated April 13, 2020. and the same is available on RBI website. The Receiving Offices shall be guided by these instructions while dealing with all the procedural aspects and providing service to the investors.

6. All other terms and conditions specified in the notification of Government of India in the Ministry of Finance (Department of Economic Affairs) vide Notification F.No.4(2)-W&M/2018 dated March 27, 2018 shall apply to the Bonds.

Yours faithfully,

(R. Gurumurthy)
Chief General Manager
——————————————————————————————————

Also Read:
1 -LIC जीवन शांति पॉलिसी में एकमुश्त निवेश कर पा सकते हैं हर महीने 4 लाख रुपये पेंशन, जीवनभर मिलता रहेगा फायदा
2 -LIC Jeevan Labh पॉलिसी में रोजाना 280 रुपये का निवेश कर, पाएं 20 लाख, जानें क्या है ये पूरा प्लान